न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राजीव गांधी हत्याकांड की जांच में नहीं हुई अधिक प्रगति : सुप्रीम कोर्ट

28

News Wing
New Delhi, 12 December:
सुप्रीम कोर्ट ने आज मंगलवार को कहा कि पूर्व प्रधान मंत्री राजीव गांधी की हत्या के पीछे व्यापक साजिश की केन्द्रीय जांच ब्यूरो की जांच में बहुत अधिक प्रगति नजर नहीं आती है. कोर्ट ने जांच ब्यूरो द्वारा उसके समक्ष दायर रिपोर्ट का जिक्र करते हुये टिप्पणी की कि बहुपक्षीय निगरानी एजेन्सी की जांच ‘अंतहीन’ हो सकती है. इस एजेन्सी की कमान जांच ब्यूरो के अधिकारी के पास है और इसमें गुप्तचर ब्यूरो, रॉ और राजस्व गुप्तचर तथा अन्य एजेन्सियां शामिल है.

इसे भी पढ़ें- शीतकालीन सत्र ऐसा जैसे शराब और चुंबन प्रतियोगिता के अलावा झारखंड में कोई मुद्दा ही ना हो

अंतहीन जा सकती है जांच

न्यायमूर्ति रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति आर भानुमति की पीठ ने कहा कि यह एजेन्सी व्यापक साजिश के पहलू की जांच कर रही है. जांच ब्यूरो की रिपोर्ट से ऐसा नहीं लगता कि इसमें अधिक प्रगति हुयी है. इसलिए यह जांच अंतहीन जा सकती है. शीर्ष अदालत ने राजीव गांधी हत्याकांड के एक दोषी की याचिका में केन्द्र को भी एक पक्षकार बनाया है. पीठ इस मामले में अब 24 जनवरी को सुनवाई करेगी.

इसे भी पढ़ें- झारखंड विधानसभा सत्र पहले दिन स्थगित, दिवंगत हस्तियों को दी गयी श्रद्धांजलि, सत्र को 3 दिनों से बढ़ाकर एक हफ्ते करने की मांग

दोषी की मौत की सजा को उम्र कैद में किया तब्दील

न्यायलाय ने 14 नवंबर को दोषी ए. जी. पतरारीवलन की याचिका पर सरकार से जवाब मांगा था. और कहा था कि राजीव गांधी और कई अन्य के मारे जाने में प्रयुक्त बेल्ट बम बनाने के पीछे की साजिश के बारे में सीबीआई की जांच पूरी होने तक उसकी सजा निलंबित की जाये. न्यायलय ने केन्द्र से पेरारिवलन की याचिका पर अपना दृष्टिकोण स्पष्ट करने के लिये कहा है. इस दोषी की मौत की सजा को सुप्रीम कोर्ट ने बाद में उम्र कैद की सजा में तब्दील कर दिया था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: