न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची: राज्यसभा चुनाव के लिए खत्म हुई वोटिंग, साहेबगंज विधायक अनंत ओझा ने डाला आखिरी वोट

33

Ranchi: राज्यसभा चुनाव के लिए वोटिंग विधानसभा में खत्म हो गयी है. सभी पार्टियों के विधायकों ने अपने मत का प्रयोग किया है. आखिरी वोट साहेबगंज से बीजेपी विधायक अनंत ओझा ने एक बजकर 25 मिनट पर डाला. 81 विधायकों में से 80 विधायकों के वोट काउंट होंगे. ज्ञात हो कि गोमिया एमएलए योगेन्द्र महतो की सदस्यता रद्द हो चुकी है.

इसे भी पढ़ें: रांची :  राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग, जेवीएम विधायक प्रकाश राम ने नहीं दिखाया बैलेट पेपर, बचाव में उतरे सीपी सिंह

80 विधायकों का वोट होगा काउंट

राज्यसभा चुनाव के लिए हुई वोटिंग में राज्य के 81 विधायकों में से 80 विधायकों के वोट काउंट होंगे. बता दें कि गोमिया से जेएमएम विधायक योगेन्द्र महतो को कोयला चोरी के एक मामले में रामगढ़ कोर्ट ने तीन साल की सजा सुनायी है. जिसके बाद उनकी विधानसभा की सदस्यता रद्द कर दी गयी है.

विधायक प्रकाश राम ने क्रॉस वोटिंग की 

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

SMILE

इधर राज्यसभा चुनाव में पहली क्रॉस वोटिंग की खबर आ रही है, बताया जा रहा है कि जेवीएम के लातेहार विधायक प्रकाश राम ने क्रॉस वोटिंग की है. दरअसल यह जेवीएम की तरफ से चुनाव में एजेंट का काम बंधु तिर्की देख रहे थे., जब प्रकाश राम वोट करने गए तो उन्होंने वोट करते हुए एजेंट को यह नहीं दिखाया कि वह किसे वोट कर रहे हैं. जिसके बाद बंधु तिर्की ने वोटिंग पर विरोध जताया. दूसरी ओर बंधु तिर्की ने जैसे ही विरोध जताया तो प्रकाश राम के बचाव में विधायक सीपी सिंह उत्तर आए. उन्होंने कहा कि आप किसी विधायक को वोट करने से नहीं रोक सकते, चाहे वह विधायक किसी भी पक्ष के लिए वोटिंग करें. इसपर  बंधु तिर्की ने कहा कि हम चुनाव आयोग को इस बारे में लिख कर देंगे, जो फैसला वहां से आएगा वह मान्य होगा.

माले विधायक राजकुमार यादव ने किया गेम

राज्यसभा चुनाव के इतिहास में ऐसा हुआ है,  जो कभी इससे पहले नहीं हुआ था. राजधनवार से माले विधायक राजकुमार यादव ने कुछ ऐसा कर दिया, जिससे सभी चकरा गये हैं. राजकुमार यादव ने वोटिंग के दौरान 2 वोट कर दिया, एक वोट उन्होंने कांग्रेस के धीरज साहू के पक्ष में किया, तो दूसरा वोट उन्होंने नोटा के पक्ष में कर दिया. अब यह विषय काफी कौतूहल वाला हो गया है कि आखिर इस वोट का क्या होगा. मामले पर क्या करना है, इसपर चुनाव आयोग के अधिकारियों से बात की जा रही है. फिलहाल किसी नतीजे पर कोई नहीं पहुंच पाया है. राजकुमार यादव ने अपना फोन भी बंद कर लिया है. उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: