Uncategorized

रांची मेयर ने किया विवादास्पद एसोटेक लिमिटेड के प्रोजेक्ट का भूमि पूजन

Ranchi : रांची नगर निगम की मेयर आशा लकड़ा ने रविवार को विवादास्पद  एसोटेक लिमिटेड के एक प्रोजेक्ट का भूमि पूजन किया. विवाद के कारण इस कार्यक्रम में आमंत्रित नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, सांसद रामटहल चौधरी, राज्य सभा सांसद महेश पोद्दार और नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव अरूण कुमार सिंह नहीं आये. कार्यक्रम में आमंत्रित गणमान्य  नगर निगम की मेयर आशा लकड़ा और विधायक जीतू चरण राम ही मौजूद थे.

Ranchi : रांची नगर निगम की मेयर आशा लकड़ा ने रविवार को विवादास्पद  एसोटेक लिमिटेड के एक प्रोजेक्ट का भूमि पूजन किया. विवाद के कारण इस कार्यक्रम में आमंत्रित नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, सांसद रामटहल चौधरी, राज्य सभा सांसद महेश पोद्दार और नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव अरूण कुमार सिंह नहीं आये. कार्यक्रम में आमंत्रित गणमान्य  नगर निगम की मेयर आशा लकड़ा और विधायक जीतू चरण राम ही मौजूद थे. रविवार को रांची से प्रकाशित होने वाले कई अखबारों में रियल एस्टेट कंपनी एसोटेक लिमिटेड की एक विज्ञापन प्रकाशित हुई है. जिसमें झारखंड सरकार का लोगो (प्रतीक चिन्ह ), प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री रघुवर दास और नगर विकास मंत्री सीपी सिंह की तस्वीरों का इस्तेमाल किया गया है. विज्ञापन में जानकारी दी गई थी कि रविवार सुबह 11 बजे के कार्यक्रम में मंत्री सीपी सिंह, सांसद रामटहल चौधरी, राज्यरसभा सांसद महेश पोद्दार, विधायक जीतू चरण राम, मेयर आशा लकड़ा, और नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव अरूण कुमार सिंह उपस्थित होंगे. लेकिन इनमें मंत्री सीपी सिंह, सांसद रामटहल चौधरी, राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार और प्रधान सचिव अरूण कुमार सिंह बिल्डर के कार्यक्रम में नहीं पहुंचे.

इसे भी पढ़ें- बिल्डर के विज्ञापन में झारखंड सरकार का लोगो, पीएम-सीएम की फोटो भी

ram janam hospital
Catalyst IAS

कंपनी ने अपने विज्ञापन में लगाया पीएम, सीएम और झारखंड सरकार का लोगो

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

रविवार को रांची से प्रकाशित होने वाले कई अखबारों में रियल एस्टेट कंपनी एसोटेक लिमिटेड की एक विज्ञापन प्रकाशित हुई है. जिसमें झारखंड सरकार का लोगो (प्रतीक चिन्ह ), प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री रघुवर दास और नगर विकास मंत्री सीपी सिंह की तस्वीरों का इस्तेमाल किया गया है. विज्ञापन में जानकारी दी गई थी कि रविवार सुबह 11 बजे के कार्यक्रम में मंत्री सीपी सिंह, सांसद रामटहल चौधरी, राज्यरसभा सांसद महेश पोद्दार, विधायक जीतू चरण राम, मेयर आशा लकड़ा, और नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव अरूण कुमार सिंह उपस्थित होंगे. लेकिन इनमें मंत्री सीपी सिंह, सांसद रामटहल चौधरी, राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार और प्रधान सचिव अरूण कुमार सिंह बिल्डर के कार्यक्रम में नहीं पहुंचे.

इसे भी पढ़ें- प्रावधानों को नजरअंदाज कर आईएएस की पत्नी रूचिका मंगला को बनाया गया स्मार्ट सिटी का स्वतंत्र निदेशक !

नगर निगम मेयर को कुछ पता नहीं

वहीं कार्यक्रम के दौरान रांची नगर निगम की मेयर आशा लकड़ा ने विज्ञापन में तस्वीर व लोगो छापने में ली गई अनुमति के बारे में कहा कि इस बारे में मुझे कुछ भी पता नहीं है. कार्यक्रम के दौरान रियल एस्टेट कंपनी एसोटेक लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर संजीव श्रीवास्तमव से न्यूज विंग ने जानना चाहा कि जिन प्रमुख लोगों को आपने बुलाया वो क्यों नहीं आ सके, कहीं कोई विवाद तो नहीं, जवाब में उन्होंने बताया कि सुबह के टाइम को लेकर कंफ्यूजन हो गया, इसीलिए लोग नहीं आ सके.

इसे भी पढ़ें- मां-पत्नी से 21 माह बाद मिले कुलभूषण जाधव, बीच में थी शीशे की दीवार

मैनेजिंग डायरेक्टर ने माना- नहीं हुआ है अभी तक रजिस्ट्रेशन

मैनेजिंग डायरेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने माना कि अभी तक शहरी आवास योजना को लेकर रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ है. कहा कि काम हो रहा है. जल्द ही रजिस्ट्रेशन की औपचारिकता पूरी हो जाएगी. कहा- सरकार के साथ पूरा एमओयू है और सहयोग मिल रहा है. नक्शे पास हुए हैं, प्रोजेक्टर में कोई कमी नहीं है. कहा कि विज्ञापन में जो लोगो और तस्वीर छापी गयी है उसकी सरकार से अनुमति ली गई है. हमने उनसे कहा की अनुमति की कॉपी उपलब्ध करायी जाये. लेकिन उन्होंने हमें अनुमति की प्रतिलिपि उपलब्ध  नहीं कराई. 

इसे भी पढ़ें – स्मार्ट सिटी की स्मार्ट सड़क : रोड के बीचों बीच गड़े हैं बिजली के पोल, दो साल के बाद भी पुंदाग-नया सराय सड़क का निर्माण नहीं हो पाया पूरा

नगर विकास विभाग के पास नक्शे की जानकारी नहीं, नगर निगम नहीं दे रहा डिटेल

झारखंड सरकार के नगर विकास विभाग के चीफ टाउन प्लानर गजानन राम से हमने पूछा कि ऐसोटेक कंपनी के प्रोजेक्ट  का नक्शा पास है क्या? इस पर उन्होंने बताया कि नक्शा‍ के बारे में मैं अभी कुछ नहीं बता सकता. इसके बारे में नगर निगम के टाउन प्लानर उदय सहाय बतायेंगे. हमने उदय सहाय से पूछा तो उन्होंने कहा कि एसोटेक कंपनी का प्रोजेक्ट वार्ड नंबर-4 का है, वह एरिया एचके सिंह देखते हैं, इसलिए वही बतायेंगे. जब नक्शा  के बारे में एचके सिंह से फोन पर संपर्क किया गया तो उन्होंने फोन अटेंड नहीं किया.

इसे भी पढ़ें – राजस्थान सरकार सोलर पावर 2.74 रुपए प्रति यूनिट खरीदेगी और झारखंड में रेट 4.95 रुपए प्रति यूनिट

एसोटेक कंपनी ने दूसरे की जमीन की घेराबंदी तोड़कर की हड़पने की कोशिश

कार्यक्रम के दौरान वहीं के स्थानीय निवासी संजय कुमार ने मेयर आशा लकड़ा से शिकायत की, कि एसोटेक वालों ने करीब दो साल पहले उनकी साढ़े पांच डिसमिल जमीन हड़पने के लिए दबंगई के साथ बाउंड्री वाल तोड़ दी थी. मेयर ने उनसे कागजात लेकर आने को कहा. संजय कुमार ने न्यूज विंग को बताया कि उनके अलावे कंपनी ने तीन और लोगों की जमीन की घेराबंदी को तोड़ दिया गया था. उस समय जब हमने इसका विरोध किया तब कंपनी के गुर्गों ने हमे डराया और धमकाया भी और कहा कि जमीन हमें दे दो और बदले में यहां फ्लैट ले लो.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button