Uncategorized

रांची में जहां लगे हैं स्‍वच्‍छता जागरूकता के होर्डिंग्‍स, वहीं उड़ रहीं स्‍वच्‍छता नियमों की धज्जियां

Ranchi: एक ओर रांची नगर निगम स्वच्छ भारत अभियान के तहत शहर को बेहतर रैंकिंग दिलाने के लिए अभियान छेड़ रखी है. वहीं दूसरी ओर मोरहाबादी बाजार में स्वच्छता अभियान के होर्डिंग के नीचे खुले में मीट-मछली बेची जा रही है. यह ऐसे समय में दिख रहा है जब पूरे शहर में स्‍वच्‍छता अभियान चलाया जा रहा है. चौक-चौराहों और सार्वजनिक स्‍थलों पर जागरूकता के लिए बैनर पोस्‍टर और होर्डिंग्‍स लगाये जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- रांची नगर निगम के टैक्स कलेक्टरों को 4 महीनों से नहीं मिला वेतन, काम किया बंद, डेढ़ करोड़ का नुकसान

इसे भी पढ़ें- रांची नगर निगम ने किया 38 क्षेत्र को कमर्शियल घोषित, लोगों को मिलेगी बेहतरीन साफ-सफाई

इसे भी पढ़ें- ओडीएफ की बात करने वाले रांची नगर निगम के शेल्टर में ही शौचालय नहीं (वीडियो देखें)

मंदिर से महज 100 गज की दूरी पर है मीट दुकान

तस्वीर में साफ दिख रहा है कि किस तरह से राजधानी रांची में स्वच्छता अभियान के होर्डिंग के नीचे ही मांस बेचा जा रहा है. रांची को स्वच्छ और सुंदर बनाने के लिए नगर निगम की ओर से खास अभियान चलाया जा रहा है. 
वहीं दूसरी तस्वीर एक मटन शॉप की है जो मोरहाबादी बाजार की ही है. बताया जाता है कि यह मटन शॉप 2005 से चल रहा है. शुरुआत में यह खुले में चलता था. खुले में बकरियां काटी जाती थी. लेकिन रांची नगर निगम का ध्यान कभी इस ओर नहीं गया और आज इसका अच्छा खासा सेड नुमा स्ट्रक्चर तैयार कर लिया गया है. यह दुकान मोरहाबादी मैदान स्थित मंदिर से महज 100 गज की दूरी पर है.

न्यू राजधानी मीट शॉप के दुकानदार मोहम्मद अफजल ने बताया कि वे इस दुकान को 2005 से यहां पर चला रहे हैं. इसके मूल संचालक अमजद खान हैं और इस मीट शॉप का लाइसेंस नगर निगम से प्राप्त है.

इसे भी पढ़ें- देवकमल हॉस्पिटल के जिम्मे है रांची नगर निगम अस्पताल, लेकिन तीन सालों में देवकमल ने नहीं किया एग्रीमेंट की शर्तों को पूरा

इसे भी पढ़ें- तीन महीने से वेतन नहीं मिलने से नाराज रांची नगर निगम कर्मियों ने किया हंगामा

सरकारी जमीन पर मीट शॉप

सबसे बड़ी बात यह है कि नगर निगम ने किस आधार पर अवैध रूप से बने मीट शॉप को लाइसेंस निर्गत कर दिया. अवैध रूप से सरकारी जमीन पर बने इस मीट शॉप को क्या निगम ने स्थल का निरीक्षण किए बगैर लाइसेंस निर्गत किया है. अगर ऐसा है तो निगम के कर्मचारियों के कार्यकलाप पर सवाल तो उठना लाजमी है. वहीं शहर में विगत एक वर्षों से इंफोर्समेंट टीम मीट-मुर्गा दुकानों पर कार्यवाई कर रही है. क्या निगम के इंफोर्समेंट टीम को यह अवैध मीट शॉप नहीं दिखाई दे रहा है. दूसरी ओर मंदिर से सौ मीटर की दूरी पर अवस्थित मीट शॉप को लाइसेंस किस आधार पर निगम अधिकारियों ने निर्गत कर दिया है. यह नगर आयुक्त सहित अन्य निगम के वरीय अधिकारियों के लिए जांच का विषय हो सकता है.

इसे भी पढ़ें- बड़े काम की है ये कंपोस्ट0र मशीन, रांची नगर निगम ने दिखाई दिलचस्पीh

इसे भी पढ़ें- रांची नगर निगम ने ब्लैकलिस्ट ठेकेदार को दिया तालाब के सौंदर्यीकरण का काम

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button