न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची में ईद मिलादुन्नबी की दिखी धूम, सड़क-गलियों में सरकार की आमद मरहबा… की गूंज (देखें वीडियो)

117

NEWSWING

Ranchi, 02 December : ईद मिलादुन्नबी यानी पैगम्बर मोहम्मद सल्ल. का जन्मदिन. गली, चौराहों में चहल-पहल और लबों पर जिक्र ए रसूल. ये नजारा शनिवार को रांची के अधिकतर गली-चौराहों पर दिखा. मौका जश्ने ईद मिलादुन्नबी के मौके पर निकाले गए मोहम्मदी जुलूस का था, जहां हर किसी के जुबान पर मोहम्मद का नाम था. दूर-दराज और गली-मुहल्ले से आए अकीदतमंदों का सड़कों पर हुजूम लगा रहा. एक तरफ जहां सुन्नी बरेलवी सेंट्रल मुहर्रम कमेटी रांची के बैनर तले और उलेमा एहले सुन्नत के नेतृत्व में कतारबद्ध ढंग से जुलूस की गाड़यां बढ़ती गईं, तो सड़कों पर सरकार की आमद महरबा… की गूंज सुनाई देती रही है. इससे पहले कांटाटोली, कुरैशी मुहल्ला, हिंदपीढ़ी, हरमू, डोरंडा, समेत रांची के अन्य मुहल्ले से जश्न ईद मिलादुन्नबी का जुलूस कर्बला चौक के पास इकठ्ठा हुआ. जहां से दिन के 11 बजे विक्रांत चौक और टैक्सी स्टैंड की तरफ से जुलूस मेनरोड लिए निकला.

हरे-गुलाबी झंडे से पटा शहर

विभिन्न गांव-कसबे, पंचायतें, समितियां, मस्जिद कमेटी के लोग जुलूस में शामिल हुए. टैक्सी स्टैंड के रास्ते मेनरोड होते हुए इकरा मस्जिद के पास जुलूस पहुंचा. यहां पर मौलानाओं ने सभाएं की. उधर शहर के मुस्लिम इलाकों की सड़कें और घर हरे-गुलाबी झंडे से पटा रहा है. वहीं भारी संख्या में श्रद्धालु भी झंडों के साथ जुलूस में शामिल हुए. इस दौरान नारे तकबीर, नारे रिसालत, हुजूर की आमद मरहबा, सरकार की आमद मरहबा… की सदाएं सुनाई देती रही. ईकरा मस्जिद से जुलूस सुजाता चौक होते हुए ओवरब्रीज, राजेंद्र चौक, हाईकोर्ट पहुंचा, जहां से युनूस चौक होते हुए डोरंडा के उर्स मैदान पहुंचकर समाप्त हुआ. यहां देर शाम तक तकरीर-नाथ का आयोजन किया गया.

इंसानियत की मिसाल है पैगम्बर मोहम्मद का किरदारः मौलाना कुतुबुद्दीन

इकरा मस्जिद के पास जब जुलूस इक्कठा हुआ, तब भीड़ को ईदारे शरीया झारखंड के नाजिमे आला मौलाना कुतुबुद्दीन रिजवी ने संबोधित किया. उन्होंने ईद मिलादुनबी पर विस्तार से प्रकाश डाला. कहा कि इसी दिन पैंगम्बर ए इस्लाम मोहम्मद सल्ल. का इस दुनिया में आएं. उन्होंने पूरे संसार को इंसानियत का पैगाम दिया. वह सभी धर्मों के नबी हैं. हमें उनके शांति के पैगाम को सभी के बीच पहुंचाने की जुरुरत है. उनके किरदार के बारे में हर किसी को बताना चाहिए.

ये थे मौजूद

इस मौके पर सेंट्रल मुहर्रम कमेटी रांची के महासचिव अक़ीलुर्रहमान, गुल मो. गद्दी,  हाफिज जावेद रिज़वी, असलम पार्षद,  मौलाना ताजउद्दीन, शकील हबीबी, अख्तर, मौलाना शमिमुल क़ादरी, मौलाना जसीमुद्दीन, हैदर गद्दी, जावेद गद्दी, मो शफ़ीक़, मो आफताब, मो नईम, मौलाना अमीरुल हसन, हाफिज अनवर, मौलाना मंज़ूर बरकाती, हाफिज अरशद, हाफ़िज़ जावेद, मौलाना नौशाद क़ादरी, कलीम खान, मो अशरफ अंसारी, मौलाना मानिरुद्दीन, मौलाना अमज़द अली,  मौलाना नेजाम, मौलाना फैज़ूल्हा  मिस्बाही,  मुफ़्ती एजाज़ खान, मौलाना नूर मोहमद, सहित कई लोग बैठक में मौजूद रहे.

जगह जगह हुआ स्वागत

ईद मिलादुन्नबी के जुलूस का जगह-जगह शिविर लगाकर स्वागत किया गया. इसमें राजनीतिक दल समेत समाजिक संगठन आगे दिखें. मो शाहिद, लाडले खान (झारखंड मुल्सिम युवा मंच) जावेद अख्तर अंसारी, मो परवेज (अल अंसार मोमीन पंचायत), कमाल खान, सोना खान, केके गुप्ता (बीजेपी), पूर्व मंत्री सुबोधकांत सहाय, दिपू सिन्हा, अजय राय, आलोक दुबे (कांग्रेस), चुन्नु मिश्रा, नदीम इकबाल, मोजीब कुरैशी, इमरान रजा (झाविमो), भालू खान, (एपीजे अब्दुल कलाम फाउंडेशन रांची) आजम अहमद( आदिवासी मूलवासी अधिकार मंच) मुख्य रूप से स्वागत शिविर में मौजूद रहे. इस दौरान श्रद्धालुओं के बीच खजूर, जरदा, मिठाईयों का वितरण किया गया. वहीं जुलूस शामिल लोगों पर फूल भी बरसाएं गये.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: