न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची: पहले दिन 3 लाख 64 हजार बच्चों को पोलियो की दवा

41

RANCHI: पल्स पोलियो अभियान के तहत रांची में 5 साल से कम उम्र के बच्चों को पोलियो की खुराक पिलायी गयी. रांची सिविल सर्जन डॉ एसएस हरिजन ने कहा कि पोलियो अभियान के पहले दिन चार लाख 87 हजार बच्चों को दवा पिलाने का लक्ष्य था, जिनमें से 74 फीसदी बच्चों को खुराक दी गयी है. उन्होंने कहा कि पिछले तीन चरण में इसबार सबसे ज्यादा बच्चों को पोलियो की खुराक दी गयी. सिविल सर्जन ने कहा कि पोलियो को जड़ से समाप्त करने में विभाग तत्पर है. विभाग के सभी कर्मचारी, सेविका, सहायिका के सहयोग से झारखंड में पोलियो उन्मूलन अभियान सफल साबित हुआ है.

इसे भी पढ़ें: सेंट्रल प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने टीटीपीएस को उत्पादन बंद करने को कहा, सिंचाई विभाग से कहा पानी ना दें, सीसीएल से कहा कोयला ना दें

पोलियो उन्मूलन अभियान

भारत ने डब्‍ल्‍यूएचओ वैश्विक पोलियो उन्‍मूलन प्रयास के परिणाम स्‍वरूप 1995 में पल्‍स पोलियो टीकाकरण (पीपीआई) कार्यक्रम आरंभ किया. इस कार्यक्रम के तहत 5 वर्ष से कम आयु के सभी बच्‍चों को पोलियो समाप्‍त होने तक ओरल पोलियो टीके (ओपीवी) की दो खुराकें दी जाती हैं. यह अभियान सफल सिद्ध हुआ और भारत में पोलियोमेलाइटिस की दर में काफी कमी आयी है. पीपीआई की शुरुआत ओपीवी के तहत शत प्रतिशत कवरेज प्राप्‍त करने के उद्देश्‍य से की गयी थी. इसका लक्ष्‍य उन्‍नत सामाजिक प्रेरणा के साथ पोलियो से मुक्ति दिलाना है.

आज से चलेगा डोर टू डोर कैंपेन

रांची सदर अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ एसके झा ने कहा कि आज से पोलियो उन्मूलन अभियान के लिए डोर टू डोर कैंपेन चलाया जा रहा है. उन्होंने बताया कि जिन्हें कल पोलियो की खुराक नहीं दी गई ह, उनके घर जाकर स्वास्थ्य विभाग के कर्मी पोलियो की खुराक देंगे.

इसे भी पढ़ें:चारा घोटाले में कोर्ट ने बिहार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, सीबीआई के पूर्व एसपी एके झा समेत नौ को आरोपी बनाया

पोलियो अभियान में लोगों ने निभाई अहम भूमिका

इसकी असाधारण उपलब्धि लाखों टीका लगाने वाले स्वास्थ्यकर्मी, स्‍वयं सेवकों, सामाजिक प्रेरणादायी व्‍यक्तियों, अभिनेताओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं और धार्मिक नेताओं के साथ सरकार द्वारा लगाई गयी ऊर्जा, समर्पण और कठोर प्रयास का परिणाम है. पोलियो उन्‍मूलन के प्रयास देश में सर्वाधिक मान्‍यता प्राप्‍त ब्रांड हैं. जिसमें फिल्‍म उद्योग के चर्चित सितारे जनता को संदेश देते हैं. ग्रामीण क्षेत्रों के लिए राष्‍ट्रीय ग्रामीण स्‍वास्‍थ्‍य मिशन का प्रयास एक वरदान सिद्ध हुआ है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: