न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची : अल्पसंख्यक अधिकार दिवस पर निकाली गयी मौन रैली, सरकार से सामने रखी कई मांगें  

25

Ranchi :विश्व अल्पसंख्यक अधिकार दिवस (18 दिसंबर) के मौके पर आज राजधानी के विभिन्न सामाजिक कार्यकर्ताओं व सामाजिक संगठनों के द्वारा रतन टॉकीज प्रांगण  मेन रोड में मौन प्रदर्शन किया गया. इस मौन प्रदर्शन में झारखंड में अब तक हुए अल्पसंख्यक विशेषकर मुस्लिमों की षड़यंत्रकारी टारगेट के तहत हत्या के साथ ही उनपर जानलेवा हमला किया गया. इसके साथ ही भुक्त भोगियों को  इंसाफ देने और दोषियों पर ठोस कानूनी कार्रवाई की मांग की गयी. साथ ही पीड़ित परिवारों को उचित मुआवजा के साथ ही सरकारी योजनाओं लाभ की मांग की गयी.

सरकार ने नहीं मानी मांगें तो होगा भूख हड़ताल

इस प्रदर्शन में झारखंड गठन के बाद से अबतक अल्पसंख्यकों के मुद्दों को समानता,मौलिक के अधिकार के तहत रोजगार, शिक्षा, स्वास्थ्य के अलाव झारखंड में शिक्षा के अधिकार के तहत प्रतिष्ठित स्कूलों में अल्पसंख्यक बच्चों के नामांकन सुनिश्चित करने की मांग की गयी. झारखंड के मुस्लिम समाज के लोगों ने 20 अगस्त 2016 को प्रोजेक्ट बिल्डिंग में मुलाकात की थी और अपनी मांगों को रखा था. कार्यक्रम में विभिन्न सामाजिक कार्यकर्ताओं में इस बात को लेकर सहमति बनी कि यदि 26 जनवरी तक उपरोक्त मांगे नही मानी गईं. तो 27 जनवरी से विभिन्न सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा सामूहिक भूख हड़ताल किया जायेगा.

hosp1

इसे भी पढ़ें – सरकारी दौरा या पीए अंजन की शादी में किराए के विमान से असम गए थे सीएम रघुवर दास !

कार्यक्रम का संचालन नदीम खान व धन्यवाद ज्ञापन तनवीर अहमद ने किया

इस कार्यक्रम में मुख्यरूप से मो. शाहिद, मंजर इमाम, इमरान रजा अंसारी, अरशद कुरैशी, नदीम इकबाल,  मो. ज़ाहिद, मो. खलील, सज्जाद इदरीसी, अकबर कुरैशी, मो. ज्याउल्लाह, खालिद सैफुल्लाह, सरवर खान, मो मेराज अंसारी, पप्पू गद्दी, मो.आफताब, तौफीक खान, वसीम शेख, सन्नी, विक्की, मो. नेसार, ऐजाज गद्दी के अलावा अन्य लोग उपस्थित थे. वहीं कार्यक्रम की अगुवायी करने वाले सामाजिक संगठन झारखंड मुस्लिम युवा मंच,युवा झारखंड, झारखंड युवा मंच, अवामी इंसाफ मंच, अढउफ, अवामी एक्शन कमेटी के लोग थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: