न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांचीः 22 दिसंबर से मोरहाबादी मैदान में 17 दिवसीय खादी एवं सरस महोत्सव का आयोजन, देश का सबसे बड़ा चरखा होगा मेले का मुख्य आकर्षण

74

Ranchi: झारखंड खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड की ओर से 17 दिवसीय राष्ट्रीय खादी एवं सरस महोत्सव का आयोजन मोरहाबादी मैदान में किया जा रहा है. यह मेला 22 दिसम्बर से सात जनवरी तक चलेगा. इसका उद्घाटन 22 दिसम्बर की शाम चार बजे मुख्यमंत्री रघुवर दास करेंगे, जबकि विशिष्ट अतिथि के रूप में मंत्री सीपी सिंह, नीलकंठ सिंह मुंडा, स्पीकर दिनेश उरांव, सांसद रामटहल चौधरी, पद्मश्री अशोक भगत, मेयर आशा लकड़ा सहित कई गणमान्य लोग मौजूद रहेंगे. यह जानकारी मंगलवार को मेला परिसर में आयोजित प्रेसवार्ता में खादी बोर्ड के अध्यक्ष संजय सेठ ने दी. उन्होंने बताया कि इस मेले में देश का सबसे बड़ा चरखा लगाया जायेगा. जिसकी चौड़ाई 35 फीट और उंचाई 25 फीट की होगी.

इसे भी पढ़ेंः मोमेंटम झारखंड पड़ताल : गुजारिश पर मिला ‘एड फैक्टर’ को 3 करोड़ और ‘अर्न्स्ट एंड यंग’ को 11.50 करोड का काम

मेले में लगाये जायेंगे 1000 स्टॉल

संजय सेठ ने कहा कि मेले में कुल एक हजार स्टॉल लगाये जायेंगे. कुल 12 हैंगर बनाये गये हैं, जिनका नाम झारखंड के जलप्रपातों पर रखा गया है. मेले की विशेषता यह है कि पहली बार सूरजकुंड मेला हरियाणा की तर्ज पर एक खादी सरस हाट बाजार लगाया जायेगा. जिसमें 100 स्टॉल लगेंगे. इसके अलावा 30 स्टॉल हस्तकरघा, रेशम एवं हस्तशिल्प निदेशालय के रहेंगे. उन्होंने बताया कि मेले में 36 फूड स्टॉल लगाये जायेंगे, जो विभिन्न राज्यों से होंगे. मेले में सभी बैंक अपना स्टॉल लगायेंगे.

इसे भी पढ़ेंः रघुवर कैबिनेट का बड़ा फैसला : जिनके पास दो एकड़ जमीन, वह भूमिहीन की श्रेणी में

शाम तीन से छह बजे तक सांस्कृतिक कार्यक्रम

मेले में प्रतिदिन शाम तीन बजे से शाम छह बजे तक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा, जिसमें विभिन्न राज्यों से आये कलाकार प्रदर्शन करेंगे. उन्होंने कहा कि मेला सुबह 10 बजे से रात नौ बजे तक खुला रहेगा. मेला में आये कलाकारों, शिल्पकारों, कारीगरों के रहने की व्यवस्था नि:शुल्क मोरहाबादी फुटबॉल स्टेडियम में की गयी है. उन्होंने बताया कि पूरा मेला परिसर सीसीटीवी की निगरानी में होगा, जो एलईडी स्क्रीन पर लाइव चलता रहेगा. मेला प्लास्टिक फ्री रहेगा. इस बार मेले में चार ई रिक्शा रहेंगे, जो बुजुर्गों, दिव्यांगों को नि:शुल्क मेला का भ्रमण करायेंगे.

palamu_12

इसे भी पढ़ेंः मिशनरीज को बढ़ावा देने के लिए अंग्रेजों ने जबरन हड़पी थी आदिवासियों की जमीन : महावीर विश्वकर्मा

10 रुपये होगा प्रवेश शुल्क

संजय सेठ ने बताया कि मेले में मिस्टर एवं मिस खादी प्रतियोगिता, बच्चों के बीच लेखन, चित्रांकन, गायन, नृत्य सहित अन्य प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जायेगा. मेले में प्रवेश शुल्क 10 रूपये रखा गया है. प्रतिदिन प्रवेश टिकट पर लॉटरी निकाली जायेगी. उन्होंने बताया कि मेला की सुरक्षा व्यवस्था के लिए जैप बल की प्रतिनियुक्ति, ट्रैफिक पुलिस, महिला एवं पुरूष पुलिस बल जिला प्रशासन द्वारा दिया जायेगा. प्रेसवार्ता में बोर्ड के सीईओ दीपांकर पंडा, डिप्टी सीईओ सुमन पाठक और शंटी सिंह सहित कई लोग मौजूद थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: