न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांचीः शराबबंदी की मांग को लेकर महिला आजसू ने किया बिरसा चौक पर प्रदर्शन

43

Ranchi: झारखंड में शराब बंद करने की मांग को लेकर महिला आजसू के बैनर तले पार्टी की महिला कार्यकर्ताओं ने बिरसा चौक पर धरना प्रदर्शन दिया. इस दौरान महिलाओं ने रघुवर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और सरकार को चेताया कि राजस्व के मोह से बाहर निकले तथा शराब बेचने के बजाय बंद कराये. इस मुद्दे पर सरकार और चुप्पी साधती रही, तो महिला आजसू गांव-गांव में विरोध का झंडा खड़ा करेगी. 

इसे भी पढ़ें : मोमेंटम झारखंड का सचः एक माह पुरानी, एक लाख की कंपनी से सरकार ने किया 1500 करोड़ का करार

इसे भी पढ़ें : मोमेंटम झारखंड का सच- 2: तीन कंपनियों की कुल पूंजी तीन लाख, एमओयू 2800 करोड़ का

hosp3

सरकार लागू करे पूर्ण शराबबंदी

धरना कार्यक्रम का नेतृत्व करते हुए रांची महिला महानगर अध्यक्ष सीमा सिंह ने कहा कि झारखंड की लाखों महिलाएं शराब के खिलाफ आवाज उठाती रही हैं और सरकार राजस्व बढ़ाने के लिये खुद शराब बेच रही है. गली-मुहल्ले में सरकारी शराब दुकान खोले जा रहे हैं. शराब के कारण घर-बार तबाह हो रहे हैं. युवा पीढ़ी शराब की गिरफ्त में है. सरकार अविलम्ब पूर्ण शराबबंदी लागू करे.

इसे भी पढ़ें : मोमेंटम झारखंड का सच-03: 6400 करोड़ का एमओयू ऐसी कंपनी के साथ जिसका कहीं नामोनिशान नहीं

इसे भी पढ़ें : मोमेंटम झारखंड : कोरियाई कंपनियां अब नहीं करेगी 7000 करोड़ का निवेश, सात में से छह प्रोजेक्ट गुजरात शिफ्ट

आजसू का पूर्ण शराबबंदी मुद्दा सबसे उपर

महानगर महासचिव मेरी तिर्की ने कहा कि आजसू पार्टी के महाधिवेशन में पारित 29 राजनीतिक प्रस्तावों में शराब बंदी सबसे उपर और महत्वपूर्ण है. महिला इसे बंद इसलिए कराना चाहती हैं क्योंकि रोज किसी की मांग उजड़ रही है, तो किसी की गोद सूनी हो रही है. मुख्यमंत्री कहते हैं कि बिहार की तर्ज पर हरगिज शराब बंद नहीं करेंगे, तो उन्हें जो मॉडल पसंद है उसे लागू करें, लेकिन शराब बंद हो.

धरना में होलिका देवी, माया सिंह, पूनम देवी, कला देवी, किरण देवी, सुनीता देवी,अंजली देवी, नीतु देवी, सावित्री देवी, रीता देवी, गीता देवी, दयावंती देवी, नीलोफर समेत कई महिलाएं शामिल थीं.

इसे भी पढ़ें : मोमेंटम झारखंडः छह माह बीते, एमओयू तीन लाख करोड़ का और निवेश सिर्फ 800 करोड़

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: