Uncategorized

रांचीः मुहर्रम के जुलूस में देशभक्ति का रंग, पाकिस्तान को दिखाया मिसाइल

News Wing

Ranchi, 02 October: मुहर्रम पर राजधानी रांची में विभिन्न अखाड़ों की ओर से भव्य जुलूस निकाला गया. डोरंडा के धवताल अखाड़ा के बैनर तले राजेंद्र चौक से निकाले गये मुहर्रम के जुलूस का दृश्य देखने लायक था. यह जुलूस देशभक्ति का संदेश दे रहा था. जुलूस में निकले लोग या हुसैन, या हुसैन के नारे लगा रहे थे. कई जगहों पर रुक-रुक कर इमाम हुसैन की शहादत का भी जिक्र हो रहा था. जुलूस में तिरंगा सहित गाड़ी पर सवार मिसाईल अकिदतमंदों (श्रद्धालुओं) की देशभक्ति की अनोखी तस्वीर बयां कर रही थी.

advt

राजेंद्र चौक पर जमा हुआ 25 अखाड़ों का जुलूस

 डोरंडा सेंट्रल मुहर्रम केमेटी के नेतृत्व में निकाले गये जुलूस में शामिल परंपारिक अस्त्र-शस्त्र से लैस सैकड़ों लोगों ने लाठी-डंडे करतब दिखाया. यहां से निकलकर जुलूस राजेंद्र चौक तक पहुंचा. यहां दर्जी टोला, पारस टोली, मनीटोला, हाथी खाना, रहमत कॉलोनी, फ्रेंड्स कॉलोनी, बेलदार मुहल्ला, धोबी मुहल्ला, हॉस्टिपल मुहल्ला, फिरदौस नगर आदि के छोटे-बड़े लगभग 25 अखाड़े यूनुस चौक पर इकठ्ठा हुए. यहां से सभी जुलूस की शक्ल में हाईकोर्ट होते हुए राजेंद्र चौक पर पहुंचे, जहां लाठी और तलवार का खेल हुआ. दो बजे के बाद अखाड़े पारा-पारी डोरंडा स्थित कर्बाला की ओर कुच कर गए.

महिलाओं का लगा हूजुम, डब्ली बैंड ने भरा जोश

मुहर्रम के जुलुस को देखने के लिए डोरंडा के विभिन्न मुहल्लें से औरतें, लड़किया भी सड़क पर आयीं. जुलूस के किनारे खड़े होकर बच्चे-बच्चियों ने भी करतब देखे. जुलूस में ढोल नगाड़े, बैंड बाजों की बरात भी थी. जैसे-जैसे जुलूस चौक की ओर बढ़ रहा था, वैसे-वैसे डब्ली बैंड ग्रुप की धुन लोगों में जोश भर रही थी. बैंड-बाजा जुलूस में खेल-करतब को पूरक के तौर पर सहयोग कर रहा था.

मिसाईल से उड़ा देंगे पाकिस्तान कोः आजम अहमद

डोरंडा सेंट्रल मुहर्रम कमेटी के नेतृत्व में निकाले गए जुलूस में तिरंगा और मिसाइलनुमा गाड़ी भी शामिल किया गया. कमेटी के सरपरस्त आजम अहमद ने कहा कि जुलूस में पहली बार धवताल अखाड़े के तरफ से मिसाईलनुमा गाड़ी शामिल की गई है. इससे देश के प्रति प्रेम का भाव जागता है. उन्होंने कहा कि हर मुस्लिम नौजवान वक्त पड़ने पर पाकिस्तान को मिसाइल से उड़ाने को तैयार है. देश के लिए कुर्बान होने को तैयार है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के नापाक इरादों का जवाब देने के लिए प्रधानमंत्री को भी तैयार रहना चाहिए. जुलूस में कमेटी के अध्यक्ष मो अशरफ अंसारी, सचिव मो मुमताज गद्दी, मौलाना मुनीर, मो अलाउद्दीन, पप्पू गद्दी, मो अयूब अंसारी, मो नौशाद, नौशाद अहमद, मो सलीम खान समेत सैकड़ो ओहदेदार शामिल थे.

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: