Uncategorized

रांचीः अपने नवजात बच्चे को अपार्टमेंट से फेंकने वाली मां को कोर्ट ने सुनायी पांच साल की सजा

Ranchi: रांची की महिला फास्ट ट्रैक कोर्ट ने नवजात शिशु को अपार्टमेंट से फेंकने की आरोपी मां बेबी मुंडा को पांच साल कैद और दो हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनायी है. रंजना अस्थाना की अदालत ने बुधवार को यह फैसला सुनाया है. मामला 21 जून 2016 का है. इस संबंध में सदर थाना में कांड संख्या 259/16 दर्ज किया गया था. मामले में सूचक प्रकाश कुमार ने अदालत को बताया था कि दीपाटोली के एसक्वायर स्टेट अपार्टमेंट के बी ब्लाक से नवजात का शव बरामद हुआ था. बेबी मुंडा एसक्वायर स्टेट अपार्टमेंट में काम करती थी. इसी दौरान वह बंटी झा के संपर्क में आ गयी और बंटी ने उससे जबरदस्ती शरीरिक संबंध बनाया, जिससे वह गभर्वती हो गयी. वह अपार्टमेंट के छठे तल्ले में काम करती थी. काम करने के दौरान ही उसने अपने मालिक के बाथरुम में बच्चे को जन्म दिया. इसके बाद छठे तल्ले के वेंटीलेटर से नवजात को फेंक दिया. बेबी मुंडा ने अदालत के समक्ष अपने जुर्म को स्वीकार कर लिया. इसके बाद अदालत ने सजा सुनायी.

इसे भी पढ़ेंः चारा घोटाला में सम्मन जारी होने के बाद वरिष्ठ आइएएस सुखदेव सिंह ने खुद को वित्त विभाग से हटाने का आग्रह सरकार से किया !

Advt

ऐसे हुआ था मामले का खुलासा

महिला ने बच्चे को जन्म देते ही जब अपार्टमेंट से नीचे फेंका तो एक स्थानीय व्यक्ति जोर से कुछ गिरने की आवाज आयी थी. उसने देखा तो नीचे एक नवजात बच्चा गिरा दिखा जिसका नाल तक नहीं कटा था. अपार्टमेंट का निरीक्षण करने पर स्थानीय लोगों ने अनुमान लगाया कि किसी फ्लैट के वाशरुम से बच्चे को फेंका गया होगा. फिर एक एक वाश रूम की जांच करने के बाद स्थानीय लोगों के शक की सूई अपार्टमेंट में ही एक फ्लैट में काम करने वाली नौकरानी बेबी पर गई. जब उससे कड़ाई से पूछा गया तो उसने स्वीकार किया कि सात महीने के बच्चे के प्रसव के लिए पहले खुद ही दवा खायी और प्रसव के तत्काल बाद वॉशरूम से बच्चे को फेंक दिया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Advt

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button