न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

यूपी में योगी सरकार के एकसाल, उपचुनाव में मिली करारी शिकस्त के बाद उपलब्धियां गिनवाने में जुटी सरकार

20

Lucknow: उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के 14 सालों के शासन के बाद सत्ता में लौटी बीजेपी की योगी सरकार ने सोमवार को एक साल पूरे कर लिये हैं. हाल ही में उपचुनाव में मिली हार के बाद अब यूपी सरकार अपने एकसाल के कार्यकाल को लेकर उपलब्धियां गिनवाने में जुटी है. राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने रविवार को बताया कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल का एक वर्ष पूरा होने पर सोमवार को राजधानी स्थित लोकभवन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. कार्यक्रम के दौरान एक साल-नई मिसालफिल्म का प्रदर्शन किया जाएगा. साथ ही, इसी शीर्षक से पुस्तिका का विमोचन किया जाएगा. इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया जाएगा, जिसमें आल्हा, फरूवाही, राई, रागिनी, मयूर नृत्य और कथक का प्रदर्शन किया जाएगा. प्रवक्ता ने कहा कि राज्य सरकार ने अपने अब तक एक साल के अल्प कार्यकाल में काफी काम किया है और प्रदेश को वापस विकास के पथ पर अग्रसर किया है. उन्होंने कहा कि यह एक वर्ष उत्तर प्रदेश के नवोत्कर्ष के लिए जाना जाएगा.

इसे भी पढ़ें: संसद में मोदी सरकार की पहली अग्निपरीक्षा, TDP आज लायेगी अविश्वास प्रस्ताव

कमजोर पड़ रही पकड़ !

यूपी में योगी युग के एकसाल के कार्यकाल में बीजेपी की पकड़ कहीं ना कहीं कमजोर होती दिख रही. पहले नगर निकाय चुनाव में मेरठ और अलीगढ़ जैसी बीजेपी की परंपरागत नगर निगम सीट पर मात मिली और अब सीएम और डिप्टी सीएम वाली हाईप्रोफाइल सीट भी हाथ से निकल गई. लोकसभा उपचुनाव में फूलपुर और गोरखपुर में पार्टी को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है. वहीं  नौकरी देने की दिशा में योगी सरकार पूरी तरह से फेल रही है. इसके बावजूद सरकार के दावे हैं कि उन्होंने सूबे की कायाकल्प के लिए कदम उठाए हैं.

इसे भी पढ़ें:कांग्रेस को अपनी जीत नहीं भाजपा के हार से मिलती है खुशी : जितेंद्र सिंह

उपलब्धियां गिनवाने में जुटी सरकार

हालांकि शासन के एक साल में योगी सरकार कुछ खास कमाल नहीं कर पायी है. ना ही जनता से किये वादे पूरे हो पाये हैं. लेकिन सरकार की पहली सालगिरह पर कई वादों के पूरे होने के दावे किये जा रहे हैं.

  • 36 हजार करोड़ के प्रावधान से 86 लाख लघु और सीमांत किसानों की कर्जमाफी.
  • गन्ना किसानों का 27 हजार करोड़ रुपए बकाया मूल्य का भुगतान.
  • इन्वेस्टर्स समिट से 4.70 लाख करोड़ यूपी में निवेश का प्रस्ताव मिलना.
  • सूबे की एक लाख एक हजार किलोमीटर सड़कें गड्ढामुक्त हुईं.
  • सौभाग्य योजना के तहत सूबे के 32 लाख परिवारों को विद्युत कनेक्शन.
  • उज्ज्वला योजना के तहत प्रदेश के 56 लाख गरीब परिवारों को मुफ्त गैस कनेक्शन.
  • प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 12.15 लाख आवासों का निर्माण.
  • कानून का राज, सूबे में 1294 मुठभेड़, 3065 अपराधी गिरफ्तार, 45 अपराधी मारे गए.
  • मेट्रो की सौगात, गाजियाबाद मेट्रो का विस्तार, कानपुर, आगरा, मेरठ का डीपीआर प्रेषित. गोरखपुर, वाराणसी और इलाहाबाद के लिए डीपीआर तैयार.
  • अल्पसंख्यक बाहुल्य इलाकों में 28 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, एक समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, 6 आयुष चिकित्सालय, 45 इंटर कॉलेज, 22 आईटीआई भवन, 348 आंगनबाड़ी केंद्र, 3 पॉलिटेक्निक एक 20 पेयजल परियोजना का निर्माण.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: