न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

यूपी: मूर्ति तोड़ने का नहीं थम रहा सिलसिला, इलाहाबाद और सिद्धार्थनगर में तोड़ी गयी अंबेडकर की प्रतिमा

51

Lucknow: उत्तरप्रदेश में एकबार फिर बाबा साहेब की मूर्तियों को निशाना बनाया जा रहा है. पीएम मोदी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह की सख्त चेतावनी का भी कोई असर नहीं दिख रहा. इलाहाबाद में झूसी के त्रिवेणीपुरम में डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा को अराजक तत्वों ने तोड़ दिया. मूर्ति बदलवाने करने की तैयारी हो रही है. फिलहाल मूर्ति तोड़ने की घटना के पीछे कौन है इसका पता नहीं चल पाया है.

इसे भी पढ़ें:पलामू की तत्कालीन डीसी पूजा सिंघल ने वर्ष 2002 के बदले 1999 के नियम का किया उल्लेख, इसी आधार पर निगरानी ने तैयार की रिपोर्ट और मुख्यमंत्री ने मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी को दी क्लीन चिट

वहीं अराजक तत्वों की गिरफ्तारी और प्रशासन द्वारा तत्काल मूर्ति लगवाने को लेकर भारी संख्या में बहुजनों से इकट्ठा होने की अपील की गई है. घटनास्थल पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

सिद्धार्थनगर में भी तोड़ी गई प्रतिमा

pic

सिद्धार्थनगर जिले में भी आंबेडकर की प्रतिमा तोड़े जाने का मामला सामने आया है. यहां शरारती तत्वों ने आंबेडकर की मूर्ति का एक हाथ तोड़ दिया. यह घटना डुमरियागंज थाना क्षेत्र की है. ग्रामीणों में इस घटना से काफी नाराजगी है. लोगों ने प्रशासन से कार्रवाई की मांग की है. हालांकि, उपद्रवियों पर कार्रवाई और नई मूर्ति लगाने के आश्वासन के बाद हालात को नियंत्रण में किया जा सका. पुलिस ने मामले में आंबेडकर की मूर्ति तोड़ने वाले शरारती तत्वों के खिलाफ रिपोर्ट दर्जकर जांच शुरू कर दी है

इसे भी पढ़ें:इंडिगो एयरलाइंस कर्मी की पिटाईः रांची एयरपोर्ट ने की एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया से शिकायत

आजमगढ़ में भी तोड़ी गई थी मूर्ति

इससे पहले आजमगढ़ में भी संविधान निर्माता बाबा साहब अंबेडकर की मूर्ति को निशाना बनाया गया था. जिले के थाना अहरौला के गांव राजापट्टी में लगी बाबा साहब की प्रतिमा बीती रात तोड़ दी गई थी. ज्ञात हो कि मूर्तियां तोड़े जाने की शुरुआत सबसे पहले त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति से हुई. उसके बाद अलग-अलग इलाकों से ऐसी खबरें आने लगी. उसके बाद पेरियार की मूर्ति और कोलकाता में महात्मा गांधी की मूर्ति को नुकसान पहुंचाया गया था. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबु और ट्विट पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: