न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मोदी ने करायी इमैनुअल फैक्रों को गंगा की सैर, दिल में सहेजी काशी की विरासत 

19

Varanashi : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल फैक्रों को अपने संसदीय क्षेत्र और धार्मिक नगरी वाराणसी की सैर करायी. इस क्रम में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल फैक्रों ने नौका विहार का भी आनंद उठाया. बता दें कि दीनदयाल हस्तकला संकुल से सीधे पीएम मोदी के साथ राष्ट्रपति मैक्रों अस्सी घाट पहुंचे. दीनदयाल हस्तकला संकुल में सोमवार को पत्नी के साथ वाराणसी के साथ ही देश की कला की विधाओं से परिचय प्राप्त करने के बाद फ्रांस राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों दोपहर 1:30 बजे वहां से निकले. इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी व फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों अस्सी घाट पर दोपहर 2:15 बजे पहुंचे. वहां से बोट पर सवार होकर गंगा नदी के विभिन्न गंगा घाटों से होते हुए दशाश्वमेध घाट पर पहुंचे. मिर्जापुर में सोलर प्लांट का उद्घाटन कर वापस धार्मिक नगरी वाराणसी पहुंचे. फ्रांस के राष्ट्रपति के साथ उनकी पत्नी भी समृद्ध काशी की विरासतों से परिचित हो रहीं हैं. इनके साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी हैं. 

इसे भी पढ़ें – राज्यसभा के ‘रण’ का महारथी कौन ? चुनावी गणित का इशारा : फायदे में होकर भी बहुमत से दूर रहेगी बीजेपी

इसे भी पढ़ें – बीजेपी लीडर के मर्डर को लेकर एसएसपी ने बनायी स्पेशल टास्क फोर्स, टीम में ATS और CID भी शामिल

मिर्जापुर में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों का परंपरागत तरीके से हुआ स्वागत

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मिर्जापुर में विंध्य की धरा पर पहुंचते ही फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों का परंपरागत ढंग से स्वागत किया गया. मां विंध्यवासिनी पर चढ़ी चुनरी से स्वागत किया गया. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ गंगा की सैर करते इमैनुअल फैक्रों

650 करोड़ की लागत से बने सौ मेगा वॉट सोलर प्लांट की विशेषताओं से रू-ब-रू हुये इमैनुअल मैक्रों

मिर्जापुर में प्रधानमंत्री के साथ फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने 650 करोड़ की लागत से बने सौ मेगा वॉट के सोलर प्लांट का उद्घाटन किया. यह प्लांट दादरकला में 650 करोड़ रुपए की लागत से बना है. इस दौरान कंपनी के अधिकारियों ने प्लांट की विशेषताओं के बारे में भी जानकारी दी. दादरकला में 382 एकड़ में स्थापित सोलर प्लांट ने उद्घाटन के बाद काम शुरू कर दिया गया. 650 करोड़ की लागत से बने, इस प्लांट से बिजली उत्‍पादन को जिगना पावर हाउस के ग्रिड से जोड़ा गया है. प्रथम चरण में 75 मेगावाट बिजली का उत्‍पादन किया जा रहा है, धीरे-धीरे इसकी क्षमता को बढ़ाकर 100 मेगावाट किया जायेगा.  

इसे भी पढ़ें – बीएसएल के खिलाफ इनकम टैक्स की बड़ी कार्रवाई, बोकारो एसबीआई का बीएसएल अकाउंट अटैच, वसूले 3.80 करोड़ बकाया 15.20 करोड़ बकाया

इसे भी पढ़ें – सार्जेंट मेजर व रीडर पर यौन शोषण का आरोप लगाने के बाद जामताड़ा के पुलिस अफसरों ने महिला सिपाही को चोरी के केस में फंसा कर सस्पेंड किया !

फ्रांस के राष्ट्रपति व उनकी पत्नी की अगवानी प्रधानमंत्री ने स्वयं की

फ्रांस के राष्ट्रपति और उनकी पत्नी की अगवानी स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की. एयरपोर्ट पर ही मौजूद भारतीय सेना के हेलिकाप्टर से पीएम व फ्रांस के राष्ट्रपति मिर्जापुर स्थित दादरकला में सोलर प्लांट के उद्घाटन के लिए सुबह 11 बजे रवाना हुये. एयरपोर्ट पर भारी संख्या में सुरक्षा बल की तैनाती की गयी थी. हवाई सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सेना का 3 हेलीकॉप्टर भी साथ में थी. इस सोलर पावर प्लांट की स्थापना फ्रांसीसी कंपनी के सहयोग से ही किया गया है. इससे पहले लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर राज्यपाल राम नाईक के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत किया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: