न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मेरे शुरुआती यौन अनुभव सहमति पर आधारित नहीं थे, ’प्लेब्वॉय ने मुझे बनाया मजबूत : पामेला एंडरसन

79

Los Angeles : सुपरमॉडल, अभिनेत्री पामेला एंडरसन ने अपने साथ हुए यौन दुर्व्यवहार के बारे में बात करते हुए बताया कि कैसे प्लेब्वॉय पत्रिका ने उन्हें मजबूत बनाया. फरवरी, 1990 में पत्रिका की ‘प्लेमेट ऑफ द मंथ’ बनने के साथ शोहरत पाने वाली पामेला (50) का कहना है कि उस कम उम्र में पत्रिका ने उसकी बहुत मदद की. बेहद छोटी उम्र में अपनी ‘बेबीसीटर’ (आया) के हाथों यौन उत्पीड़न झेल चुकी पामेला युवा अवस्था में बहेद शर्मिली किस्म की लड़की हुआ करती थीं.

इसे भी पढ़ें- टू-व्हीलर पर ढोये गये राशन ! कैग रिपोर्ट पर घिरी दिल्ली सरकार, केजरीवाल ने कहा-बख्शे नहीं जाएंगे दोषी

प्लेब्वॉय ने मेरी जिंदगी बचा ली

यूएस वीकली से बातचीत में पामेला ने कहा कि बचपन में एक बहेद बुरी महिला बेबीसीटर ने मेरा यौन शोषण किया. वह अब जीवित नहीं है. और किसी पुरूष के साथ भी मेरे शुरूआती (यौन) अनुभव सहमति पर आधारित नहीं थे.’’ उन्होंने कहा कि मैं बेहद शर्मिली बच्ची थी. युवा अवस्था में प्लेब्वॉय ने मुझे मजबूत बनाया. इसने मेरी जिंदगी बचा ली.  मुझे अंदर ही अंदर दम घुटता हुआ लग रहा था और मुझे खुद को आजाद करने की जरूरत महसूस होने लगी थी. मेरे लिए वह महत्वपूर्ण मोड़ था, वहां मैं कलाकारों, कार्यकर्ताओं और सभ्य लोगों से मिली. वह बहुत ही मस्ती भरी जिंदगी थी.’’

इसे भी पढ़ें- आखिर क्यों नाराज हैं सिमरिया विधायक गणेश गंझू !

शो बिजनेस पामेला की पसंदीदा जगह नहीं

उन्होंने हाल ही में हॉलीवुड में सामने आये यौन दुर्व्यवहारों पर भी बात की. पामेला का कहना है कि शो बिजनेस उनकी पसंदीदा जगह नहीं है, लेकिन अगर कोई पूरी जिन्दगी यहां रहना चाहता हैं तो उसे हर हालात के लिए तैयार रहना चाहिए.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: