न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मुख्यमंत्री रघुवर दास पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले गिरधारी मंडल को पुलिस ने जेल भेजा

235

Dhanbad : धनबाद के निरसा थाना क्षेत्र के रंगामतिया पंचायत निवासी इब्राहिम के फेसबुक में मुख्यमंत्री के घोषणा के संबंध में पोस्ट किया गया था. उस पर झारखंड मुक्ति मोर्चा के बेनागोरिया पंचायत अध्यक्ष गिरधारी मंडल ने मुख्यमंत्री के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. जिसके खिलाफ बीजेपी कार्यकर्ता मधुसूदन गोस्वामी ने निरसा थाना में 28 मार्च को गिरधारी मंडल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी थी. प्राथमिकी दर्ज होने के बाद निरसा थाना प्रभारी मामले की जांच कर रहे थे. गुरुवार को आरोपी गिरधारी मंडल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

mi banner add

इसे भी पढ़ें – चार लाख का केक, 19 लाख का फूल और 2.5 करोड़ का टेंट : झारखंड की बेदाग सरकार पर अब “स्थापना दिवस घोटाले” का दाग

गिरफ्तारी को लेकर झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ता ने थाने में किया हंगमा

झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ता ने गिरधारी मंडल की गिरफ्तारी का विरोध किया. कार्यकर्ता थाना में हंगामा करने लगे. मामले को लेकर थाना प्रभारी और कार्यकर्ता के बीच बहस भी हुई. किसी तरह मामला को शांत कर आरोपी को जेल भेजा गया.

क्या कहते हैं निरसा थाना प्रभारी कमलेश प्रसाद

मामले को लेकर जब थाना प्रभारी से बात की गयी तो उन्होंने कहा कि रंगामतिया पंचायत निवासी इब्राहिम के फेसबुक वाल पर गिरधारी मंडल ने मुख्यमंत्री के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. मामले को लेकर 28 मार्च को प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी. मामले की जांच करने के बाद ही आरोपी को गिरफ्तार किया गया है.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में अब नहीं खुलेगी प्रज्ञान यूनिवर्सिटी, फर्जीवाड़े के खुलासे के बाद बैकफुट पर संस्थान, बड़ा सवाल क्या मंजूरी देने वाले अधिकारियों पर होगी कार्रवाई

आपत्तिजनक टिप्‍पणी मामले को लेकर पूर्व में भी हुई है प्राथमिकी दर्ज 

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

इसके पूर्व भी मुख्यमंत्री रघुवर दास की तस्वीर से छेडछाड़ और अभद्र टिप्पणी करने संबंधी पोस्ट को लेकर रांची साईबर थाना में पांच लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. रांची के साइबर थाने में दर्ज मामले में आरोपियों के खिलाफ सोशल मीडिया के माध्यम से अभद्र टिप्पणी कर धार्मिक विद्वेष फैलाने का आरोप लगाया गया था.

रांची में दर्ज मामले में इनपर लगे थे आरोप

तीर्थनाथ आकाश पर फेसबुक और व्हाट्सएप पर धार्मिक विद्वेष फैलाने संबंधी पोस्ट करने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. आरोपों के मुताबिक उन्होंने मुख्यमंत्रीमंत्री एवं अन्य प्रतिष्ठित लोगों पर लगातार टिप्पणी की थी.

अबरार अहमद के खिलाफ एफआईआर में मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ जानबूझ कर चरित्रहनन करने का आरोप लगाया गया है.

सिमडेगा के समीर कुल्लू पर भी फेसबुक पोस्ट पर सीएम समेत अन्य प्रतिष्ठित लोगों के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग करने का आरोप लगा था.

अफसर अमन पर आरोप लगा था कि उन्होंने 24 नवंबर को धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने वाली पोस्ट लिखी. साथ ही 10 दिसंबर को प्रधानमंत्री और भारत सरकार के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट लिखने पर भी आरोपी बनाया गया था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: