न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

महज साढ़े तीन सौ रुपये में बिकती है आपकी फेसबुक लॉग-इन जानकारी !

116

Newswing Desk: फेसबुक पर डाटा लीक होने के बाद से लगातार लोगों की निजता को लेकर सवाल उठ रहे हैं. ऐसे में अगर कोई आपसे पूछे की आपकी निजता की क्या कीमत है, तो शायद आपका जवाब होगा बेशकीमती. लेकिन हैकर्र के लिए आपकी निजता बहुत ही सस्ती है, जो चंद रुपये पर बिकती है. हैकर आपकी निजी जानकारियां डार्क वेब पर कौड़ियों के दाम बेच रहे हैं. ब्रिटेन की कंपनी ने सनसनीखेज दावा किया है कि लोगों की ऑनलाइन जानकाकरी को कौड़ियों के भाव खरीदा और बेचा जा रहा है, जिसमे ना सिर्फ फेसबुक की जानकारी, बल्कि लोगों की बैंक डीटेल, जीमेल अकाउंट बल्कि क्रेडिट कार्ड से जुड़ी जानकारी भी शामिल है.

eidbanner

इसे भी पढ़ें: फेसबुक डाटा लीक: दुनिया में मची खलबली के बीच स्कैंडल का 8 साल की बच्ची को मिला फायदा

सिर्फ 350 रुपए में बिक रही आपकी प्रोफाइल

fbहाल के रिसर्च में सामने आया है कि लंदन मे डार्क वेब पर एक फेसबुक प्रोफाइल पर लॉग इन की कीमत सिर्फ 350 रुपए है. लोगों की निजी जानकारी को कौड़ियों में बेचने का मामला सामने आया है. फेसबुक डेटा लीक की खबर के सामने आने के बाद एक-एक करके बड़े तथ्य सामने आ रहे हैं. इन खबरों के सामने आने के बाद लोगों का डिजिटल बैंकिंग से लेकर सोशल मीडिया पर व्यक्तिगत जानकारी के लीक होने का डर सताने लगा है. मार्केटिंग एजेंसी फ्रैक्टल ने पिछले महीने तीन बड़े डार्क वेट के मार्केट प्लेस, ड्रीम प्वाइंट और वॉल स्ट्रीट मॉर्केट का अध्ययन करके इस बात का खुलासा किया है. शोधकर्ताओं के अनुसार फेसबुक लॉगिन को सिर्फ 5.20 डॉलर यानि तकरीबन 350 रुपए में बेचा जा रहा है.

इसे भी पढ़ें: चारा घोटाला: दुमका ट्रेजरी केस में लालू को 7-7 साल की सजा, 30-30 लाख का जुर्माना

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

फेसबुक को थी डेटा लीक की जानकारी !

 

फेसबुक

डेटा चोरी पर मचे बवाल के बीच कैंब्रिज एनालिटिका के पूर्व कर्मचारी ब्लोअर क्रिस्टोफर ने दावा किया है कि इस तमाम डेटा लीक की मार्क जुकरबर्ग को जानकारी थी. फेसबुक ने 2015 में थर्ड पार्टी डेवलेपर को बैन कर दिया था. खुद जकरबर्ग ने इस वर्ष की अपनी पहली पोस्ट में आत्मसुधार की बात कही है. हैकर डार्क वेज पर कोई भी किसी व्यक्ति का ऑनलाइन प्रोफाइल महज 1200 डॉलर यानि 80 हजार रुपए में खरीद सकता है. इसमे ना सिर्फ फेसबुक बल्कि बैंक की गोपनीय जानकारी, क्रेडिट कार्ड की जानकारी को भी हासिल किया जा सकता है. यहां तक कि जीमेल का यूजर नेम व पासवर्ड को सिर्फ एक डॉलर में खरकीदा जा सकता है. वहीं उबर का लॉगिन डीटेल सिर्फ सात डॉलर में खरीदा जा सकता है. इसकी कीमत इतनी सस्ती इसलिए है क्योंकि फेसबुक ढेरों थर्ड पार्टी एप जैसे क्वीज ऐप, गेम ऐप को सोशल नेटवर्क में घुसने की इजाजत देता है. इसलिए हैकर आसानी से इनका डाटा उड़ा लेते हैं.

 न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: