न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भारत बंद के दौरान हिंसा के बाद पीएम मोदी ने तोड़ी चुप्पी, परोक्ष रुप से रखी अपनी बात

26

New Delhi : एससी-एसटी ऐक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ 2 अप्रैल को आहूत भारत बंद के दौरान देश के कई राज्यों में हुई हिंसा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार, लेकिन परोक्ष रूप से अपनी बात रखी है. दिल्ली में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अंबेडकर को राजनीति में घसीटने की बजाय उनके दिखाए गए मार्ग पर चलने की जरूरत है. पीएम ने कहा कि बाबासाहब भीवराव अंबेडकर को जितना सम्मान उनकी सरकार ने दिया, किसी और सरकार ने नहीं दिया. इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम पर दलितों, आदिवासियों के खिलाफ हो रहे अत्याचारों और SC-ST ऐक्ट को लेकर चुप्पी साधने का आरोप लगाय था. गौरतलब है कि 2 अप्रैल को दलित और पिछड़ी जातियों के संगठनों द्वारा कराए गए भारत बंद के दौरान व्यापक हिंसा हुई और 12 लोगों ने जान गंवा दी.

इसे भी पढ़ें- रिश्ते सुधारने की पहल : बीजेपी ने शिवसेना को दिया राज्यसभा के डिप्टी चेयरमैन पद का ऑफर

सरकार की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दिया स्टे

एक तरफ दलित संगठनों और विपक्ष की ओर से केंद्र सरकार पर एससी-एसटी ऐक्ट को कमजोर करने की साजिश के आरोप लगाए जा रहे हैं. दूसरी ओर पलटवार के तौर पर बीजेपी के नेता और केंद्र सरकार के कई मंत्री विपक्ष पर दलितों के नाम पर सियासत का इल्जाम मढ़ रहे हैं. हालांकि केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में एससी-एसटी ऐक्ट के फैसले के खिलाफ में रिव्यू पिटिशन दाखिल की थी लेकिन सर्वोच्च अदालत ने स्टे देने से इन्कार कर दिया. वहीं मामले की विस्तृत सुनवाई दस दिन बाद करने की बात कही. एससी एसटी ऐक्ट के मसले पर आरोपों से घिरी मोदी सरकार की तरफ से पहले गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में सरकार का पक्ष रखा, इसके बाद पार्टी की तरफ से अमित शाह ने बात रखी. वहीं अब पीएम मोदी ने परोक्ष रूप इसपर टिप्पणी की है.

इसे भी पढ़ें- कर्नाटक विस चुनाव में चुनाव आयोग सख्त, अमित शाह और राहुल गांधी के विमान की ली गयी तलाशी

अंबेडकर के नाम पर सिर्फ राजनीति की गई : मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अंबेडकर के नाम पर केवल राजनीति की गई. उन्होंने कहा कि अटल सरकार के समय आंबेडकर से जुड़े दो भवनों के निर्माण की योजना बनाई गई. बाद की सरकारों ने केवल सियासत की. अब जाकर हम उस योजना को पूरा करने के लिए तैयार हैं. जब मैंने शिलान्यास किया था तो कहा था कि अप्रैल 2018 में इसका लोकार्पण करूंगा.13 अप्रैल को उसका लोकार्पण है और 14 अप्रैल को बाबा साहब आंबेडकर का जन्मदिन.

पीएम मोदी ने कहा, बीजेपी ने सदैव बाबासाहब अंबेडकर का सम्मान किया है. और समाज के आखिरी छोर में बैठे हुए लोगों के हितों की चिंता की है. यही सरकार की जिम्मेदारी है जिसे सरकार निभा रही है.‘ 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: