न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भारत बंद का चतरा में व्यापक असर, कोल परियोजनाओं में उत्पादन व ट्रांसपोर्टिंग ठप, दुकानें बंद, सड़कें सुनसान

35

Chatra : अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति नियमावली में सुप्रीम कोर्ट के संशोधन के निर्णय के विरोध में आहूत एकदिनी भारत बंद का चतरा में व्यापक असर देखने को मिला. एक्ट में संशोधन के विरोध में लोगों ने सड़कों पर उतर कर जोरदार विरोध प्रदर्शन किया. चतरा में भारत बंद को सफल बनाने को लेकर अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति मोर्चा के बैनर तले विभिन्न राजनीतिक व गैर-राजनीतिक संगठनों के लोग सड़कों पर उतरे और जमकर सरकार व सुप्रीम कोर्ट के विरुद्ध नारेबाजी की. हाथों में सरकार विरोधी तख्ती लिए कार्यकर्ताओं ने दुकानों को बंद कराते हुए शहर में जनाक्रोश रैली निकाली. मोर्चा द्वारा निकाली गई रैली को कांग्रेस, बसपा व राजद समेत अन्य राजनीतिक व गैर-राजनीतिक संगठनों ने अपना समर्थन दिया.

बंद को लेकर मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालय से खुलने वाली यात्री बसों के परिचालन को भी ठप करा दिया. इसके अलावे टंडवा में संचालित कोल परियोजनाओं में उत्पादन व ढुलाई का कार्य भी बाधित कर दिया. बंद के कारण चतरा से रांची, हजारीबाग, गढ़वा, पलामू, लातेहार, गया, सासाराम व बनारस लिए खुलने वाली यात्री बस पड़ाव में ही खड़ी रही. बस पड़ाव सुनसान रहा, सड़कों पर व्यवसायिक वाहनों की कतार लगी रही.

इसे भी देखें- रांची: भारत बंद के दौरान समर्थकों का उत्पात, आदिवासी हॉस्टल को खाली करने को निर्देश, पुलिस ने संभाला मोर्चा,  देखें वीडियो

इसे भी देखें- SC/ST एक्ट में बदलाव के खिलाफ भारत बंद, झारखंड में खासा असर-थमी रफ्तार, देखें वीडियो

सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश को केंद्र सरकार का मुखौटा बताया

मौके पर कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला. राजद नेता मनोज चंद्रा ने कहा कि केंद्र सरकार के इशारे पर सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश मुखौटा बनकर कार्य कर रहे हैं. न्यायालय को सरकार अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर रही है. उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय ने एससी-एसटी एक्ट में ऐसा संशोधन कर दिया है, जिससे एक्ट की अहमियत कम हो गयी है. राजद नेता ने कहा कि एक्ट में संशोधन से समाज के लिए कोढ़ बन चुके छुआछूत व भेदभाव की नीति को बढ़ावा मिलेगा, जिससे नीची जाति के लोगों का समाज में जीना दुस्वार हो जाएगा. मौके पर मोर्चा के नेताओं ने एक्ट संशोधन का निर्णय निरस्त नहीं होने पर चक्का जाम करने की चेतावनी दी है.

इसे भी देखें : तीन बच्चों के पिता ने नाबालिग को बनाया अपनी हवस का शिकार, मामला उजागर होने पर हुआ फरार

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: