न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भारत-अमेरिका ‘टू प्लस टू’ वार्ता को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं

15

Washington : अगर अमेरिकी सीनेट अगले कुछ सप्ताह में नये विदेश मंत्री के रूप में माइक पांपियो के नाम की पुष्टि करता है, तो अगले महीने प्रस्तावित भारत अमेरिका ‘ टू प्लस टू’ वार्ता उनके लिए शीर्ष राजनयिक के तौर पर पहला बड़ा द्विपक्षीय संवाद हो सकता है. इस वार्ता की घोषणा पिछले साल उस समय हुई थी, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से सफल मुलाकात की थी. इस बातचीत में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और उनके अमेरिकी समकक्ष शामिल होंगे.

इसे भी देखें- अफगान चौकी पर हमले में सुरक्षा बलों के 10 कर्मियों की मौत

टिलरसन ने ‘ टू प्लस टू’ संवाद पर विशेष निर्देश जारी किये थे

ट्रंप ने कल रेक्स टिलरसन को विदेश मंत्री के पद से हटाते हुए सीआईए निदेशक पांपियो को उनकी जगह नामित किया था. विदेश मंत्रालय के फॉगी बॉटम मुख्यालय में कार्यभार संभालने से पहले पांपियो को सीनेट की मंजूरी का इंतजार रहेगा. अफ्रीका रवाना होने से पहले, टिलरसन ने‘ टू प्लस टू’ संवाद पर विशेष निर्देश जारी किये थे. ये वार्ता वाशिंगटन डीसी में अप्रैल के मध्य 18 और19 तारीख को होने की संभावना है. हालांकि इसकी कोई औपचारिक घोषणा नहीं हुई है. विदेश सचिव विजय गोखले और रक्षा सचिव जी मोहन कुमार के नेतृत्व वाले उच्चस्तरीय भारतीय प्रतिनिधिमंडल को संवाद की तैयारियों के सिलसिले में अमेरिका आने का कार्यक्रम था.

इसे भी देखें- ट्रंप ने पूर्व जासूस को जहर देने के मामले में रूस से जवाब मांगा

भारत से मजबूत रिश्तों पर ट्रंप का जोर

टिलरसन को हटाने के राष्ट्रपति के फैसले के बीच, विदेश मंत्रालय और वाशिंगटन डीसी में भारतीय दूतावास ने इस सप्ताह इन बैठकों के भविष्य से जुड़े सवालों का जवाब नहीं दिया. सूत्रों के मुताबिक ट्रंप द्वारा भारत से विशेष जुड़ाव को देखते हुए भारत और अमेरिका के बीच पहली ‘ टू प्लस टू’ वार्ता की तारीखों में बदलाव का फैसला मुश्किल भरा होगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: