न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भागलपुर : एनटीपीसी के कहलगांव संयंत्र ने 1,600 करोड़ यूनिट बिजली का उत्पादन किया रिकॉर्ड

170

Bhagalpur : सार्वजनिक कंपनी एनटीपीसी के कहलगांव स्थित संयंत्र ने सारे पुराने कीर्तिमान ध्वस्त करते हुए चालू वित्त वर्ष में1,600 करोड़ यूनिट से अधिक बिजली का उत्पादन किया है. एनटीपीसी के समूह महाप्रबंधक( सुपर थर्मल पावर स्टेशन) के. श्रीधर ने शुक्रवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि वित्त वर्ष2017-18 के दौरान इस संयंत्र ने1,617.82 करोड़ यूनिट बिजली का उत्पादन किया है. यह इसके पहले के सर्वाधिक स्तर तथा वित्त वर्ष2016-17 के1,594.77 करोड़ यूनिट से2.63 प्रतिशत अधिक है. उन्होंने कहा कि संयंत्र ने पर्याप्त बिजली उत्पादन लक्ष्यों को प्राप्त करने के साथ ही कॉरपोरेट सामाजिक दायित्वों( सीएसआर) की प्राथमिकता का भी निर्वहन किया है.

इसे भी पढ़ें-  एक अप्रैल से नहीं बढ़ेंगे बिजली के दाम, निकाय चुनाव के बाद पांच गुणा होगा टैरिफ

प्लास्टिक आभियांत्रिकी में रोजगार पा सकेंगे युवा

श्रीधर ने कहा कि हमारी सीएसआर मुहिमों में बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान करना शामिल है. उन्होंने कहा कि कहलगांव संयंत्र ने युवाओं को छह महीने का प्रशिक्षण देने के लिए हाजीपुर स्थित केंद्रीय प्लास्टिक आभियांत्रिकी संस्थान के साथ करार किया है. इस पर करीब 20 लाख रुपये का खर्च आएगा और यह अगले महीने से शुरू होगा. उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम से प्रशिक्षित युवाओं के पास कौशल होगा जिससे वे प्लास्टिक आभियांत्रिकी में रोजगार पा सकेंगे.

इसे भी पढ़ें- मुख्यमंत्री ने झारखंड का नियम बनने के बाद बिहार के नियम की गलत व्याख्या कर भ्रष्टाचार करने के आरोपी मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी को दी क्लीन चिट

कहलगांव संयंत्र ने राष्ट्रीय स्तर पर चल रहे स्वच्छता अभियान में भी योगदान दिया है : श्रीधर

श्रीधर ने कहा कि इसके अलावा हम रेलवे तथा बैंकिंग क्षेत्रों में रोजगार तलाश रहे युवाओं के कोचिंग का खर्च वहन कर उनकी आर्थिक मदद कर रहे हैं. इस मुहिम पर करीब10 लाख रुपये खर्च होंगे. श्रीधर ने कहा कि कहलगांव संयंत्र ने राष्ट्रीय स्तर पर चल रहे स्वच्छता अभियान में भी योगदान दिया है. उन्होंने कहा कि हमने अब तक94 शौचालय बनाये हैं तथा217 तैयार हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमने इस दौरान तीन हजार जरूरतमंदों को कंबल तथा पांच हजार स्कूली बच्चों को स्वेटर दिये हैं. बच्चों को शिक्षण सामग्री मुहैया कराना तथा स्कूलों में आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध कराना भी हमारे सीएसआर का हिस्सा रहा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: