न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बोकारो : हैसाबातू-गरगा डैम जलापूर्ति योजना को लेकर स्टील प्लांट नहीं दे रहा जमीन, राज्य सरकार की करोड़ो की योजना बेकार

6

News Wing
Bokaro 14 December :
बोकारो जिले की महत्वपूर्ण योजना बोकारो स्टील प्लांट प्रबंधन के अधिकारियों के मनमानी के कारण धरातल पर उतर नहीं सका है. हैसाबातू-गरगा डैम जलापूर्ति योजना का शिलान्यास सीएम रघुवर दास ने ऑनलाइन रामगढ़ में आयोजित समारोह से किया था. जिसके बाद लोगों को लगा था कि अब योजना जल्द बनना शुरू हो जाएगा, लेकिन बोकारो प्रबंधन वाटर ट्रीटमेंट प्लांट और ना ही पानी टंकी निर्माण को लेकर जमीन का एनओसी विभाग को दे रहा है. जिस कारण पेयजल एवं स्वच्छता विभाग काम शुरू नहीं कर पा रहा है.

इसे भी पढ़ें- सरकार ने माना मोमेंटम झारखंड के बाद किया फर्जी कंपनी से 6400 करोड़ का करार, पूछे जाने पर विधायक को दी गलत जानकारी

33 करोड़ की लागत से तैयार होगी योजना

हैसाबातू-गरगा डैम जलापूर्ति योजना निर्माण की स्वीकृति  सरकार के पेयजल एवं स्वच्छता विभाग ने दी है. करीब 33 करोड़ की लागत से योजना के तहत गरगा डैम के पास 3 एकड़ जमीन पर वाटर ट्रीटमेंट प्लांट बनेगा, जहां पर डैम से पानी लेकर फिल्टर किया जाएगा. वहीं बालीडीह मोड़, हैसाबातू और रीतुडीह गांव के पास जल मीनार का निर्माण होना है. इसके अतिरिक्त पाइप लाइन बिछाया जाना है. बोकारो प्रबंधन को पेयजलापूर्ति विभाग के कार्यपालक अभियंता ने पत्राचार कर जमीन की एनओसी मांगी, ताकि निर्माण शुरू हो सके. प्रबंधन की ओर से अब तक कोई जवाब नही मिल सका है.

इसे भी पढ़ें- अंजुमन चुनाव विवाद : वक्फ बोर्ड को तीन माह में चुनाव कराने का हाईकोर्ट का निर्देश

दस पंचयात के लोगों की बुझेगी प्यास

हैसाबातू-गरगा डैम जलापूर्ति योजना के तैयार हो जाने से चास प्रखंड के के दस पंचयात माराफारी पुनर्वास, गोड़ाबाली दक्षिणी, गोड़ाबाली उत्तरी, हैसाबातू पूर्वी, हैसाबातू पश्चिम, बांसगोड़ा पूर्वी, बांसगोड़ा पश्चिम, रितूडीह,  उकरीद आदि पंचायतो में रहने वाले लोगो की प्यास बुझेगी. इन पंचायतो में कई स्थानों पर सार्वजनिक स्थानों पर नल लगेगा और लोगो के घरों में कनेक्शन मिलेगा, ताकि सुबह और शाम लोगों को पानी मिल सके.

इसे भी पढ़ें- रांची : आम से खास तक के लिए सरकार ला रही है 45 हजार की साइकिल, भाड़ा होगा 5 रुपया प्रति घंटा

कई बार कर चुके हैं पत्राचार

पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता शशिभूषण पुरन ने कहा कि आठ बार विभाग की ओर से बोकारो स्टील को पत्राचार किया गया. लेकिन अभी तक कोई पहल नही किया जा रहा है. दो दिन पहले भी पत्र लिखे है, जमीन मिलने के बाद ही एजेंसी को वर्क ऑडर दिया जाना है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: