न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बोकारो में स्टाम्प पेपर की दो वर्षों से किल्लत, जिले के अधिकारियों को नहीं है फिक्र, लोग परेशान

7

News Wing
Bokaro 09 December :
राज्य के भू-राजस्व मंत्री के गृह जिला बोकारो में दो वर्षों से स्टाम्प पेपर को लेकर मारामारी चल रही है. जिसे पूरा करने को लेकर राज्य सरकार के अधिकारियों के द्वारा किसी तरह की कोई कोशिश नहीं की जा रही है. वहीं लोगों को ई-स्टाम्प पेपर लेने की सलाह जिले के अधिकारी देते हैं. लेकिन ई-स्टाम्प पेपर भी शहर में उपलब्ध नहीं है. जिससे लोग काफी परेशान है.

इसे भी पढ़ें- झारखंड में स्वास्थ्य, कुपोषण, शिक्षा की स्थिति बदतर, पिछड़े 115 जिलों में झारखंड के 19 जिले शामिल: नीति आयोग

दोगुने दर पर खरीद रहे हैं लोग स्टाम्प

बोकारो व्यवहार न्यायालय के बगल में स्थानीय वेंडरों द्वारा छोटे-छोटे दुकान खोले गए हैं. जहां पांच रुपये से लेकर के 200 रुपये तक के नन-जुडिशल स्टाम्प पेपर की बिक्री दोगुने से तीन गुने दामों पर की जा रही है.  स्थानीय वेंडर 50 रुपये के स्टाम्प पेपर को दूसरे जिला से मंगाकर 150 रुपये तक में बेच रहे हैं. वहीं इसके लिए भी लोगों को दो से तीन दिनों तक इंतजार करना पड़ता है.

इसे भी पढ़ें-सूबे के मुखिया दिव्यांगों के लिए बहाते हैं आंसू और समाज कल्याण विभाग दो साल में भी नहीं बना पाता है नियमावली

ई-स्टाम्प के आने से बढ़ी परेशानी

झारखंड सरकार द्वारा जबसे ई-स्टाम्प की सुविधा बहाल की गई है. तब से यह किल्लत है. जिले में ई-स्टांप के लिए केनरा बैंक, पोस्ट ऑफिस और स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड को बिक्री केंद्र बनाया गया है. इस संबंध में ग्राहकों ने बताया कि पोस्ट ऑफिस में शुरू से ही ई-स्टाम्प पेपर बिक्री बंद है. केनरा बैंक में इस संबंध में कोई भी पदाधिकारी कुछ भी बताने के लिए तैयार नहीं है. वहीं स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड में बराबर लिंक फेल रहने के कारण लोगों को दो से तीन दिनों तक स्टांप पेपर के लिए इंतजार करना पड़ रहा है. इस संबंध में एक ग्राहक ने बताया कि वह पिछले तीन दिनों से स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड का चक्कर काट रहे हैं लेकिन उन्हें स्टाम्प पेपर नहीं मिल रहा है.  

इसे भी पढ़ें- दारू-दारू हुई झारखंड की राजनीति- जेएमएम विधायकों को खुलवानी है अपने घर में शराब दुकान तो लिस्ट बना कर दें: बीजेपी, 12 दिसंबर को बियर लेकर जाऊंगा विधानसभा, सीएम को करूंगा गिफ्टः जेएमएम

वकीलों को हो रही परेशानी

बोकारो कोर्ट के अधिवक्ता रंजीत गिरी ने बताया कि ई-स्टाम्प के चक्कर मे काफी दिक्कत हो रही है. सुदूर गांव से आने वाले लोगों को ई-स्टाम्प बहुत बार नहीं मिल पाता है. जिसकी वजह से एक ही काम के लिए उन्हें कई बार चक्कर काटना पड़ता है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: