Uncategorized

बोकारो में आदिवासी नृत्य पर झूमे लोग, विधायक ने भी सराहा

News wing
Bokaro 09 november : 
बोकारो के सेक्टर – 5  में स्थित क्लब में समाज हित कल्याण समिति और संगीत नाटक अकादमी की ओर से आदिवासी सांस्कृतिक महोत्सव का आयोजन किया गया. इस महोत्सव का उद्धघाटन बोकारो विधायक बिरंची नारायण ने किया. उन्होंने कहा कि आदिवासी संस्कृति को बचाने की दिशा में सरकार पूरा प्रयास कर रही है. आदिवासी संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए कई कार्यक्रमों का भी आयोजन राज्य के विभिन्न हिस्सों में किया जा रहा है.

झारखंड के संस्कृति की पहचान पूरे विश्व में सबसे अलग : विधायक

इससे आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि ऐसे सांस्कृतिक कार्यक्रमों को बढ़ावा देकर ही हम सांस्कृतिक विरासत को मजबूत कर सकते हैं. झारखंड की संस्कृति की पहचान पूरे विश्व में सबसे अलग रही है. इस समय सांस्कृतिक पहचान को बचाने और समृद्ध बनाने की दिशा में हम सभी को मिलकर प्रयास करना होगा. उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजन से ही गांव समाज में रहने वाले छोटे – छोटे कलाकार आगे आकर अपनी संस्कृति सभ्यता को मजबूत करने की दिशा में बेहतर प्रयास करेंगे.

कलाकारों को भी सम्मान देने की जरूरत : विधायक

विधायक ने कहा कि ऐसे कलाकारों को भी सम्मान देने की जरूरत है. समारोह में आसस संस्था  बोकारो टीम की छोटी-छोटी छात्राओं ने ‘हो’ सांस्कृतिक नृत्य प्रस्तुत कर सभी लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया. मांदर और नगाड़े  के थाप पर करीब 1 घंटे तक लोग झूमते रहे. वही नावाडीह के ऊपर घाट मानपुर से आए हुए सांस्कृतिक दल ने संथाली सोहराय गीत-नृत्य प्रस्तुत कर लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया. गोमिया के सियारी गांव से आए हुए कलाकारों ने संथाली लोकगीत के साथ नृत्य का आयोजन कर लोगों को भाव-विभोर किया.

इसी तरह स्थानीय लोक गायक ने भी अपने गीतों की प्रस्तुति कर लोगों को खूब झुमाया. आयोजन में राज्य के मंत्री अमर कुमार बाउरी के साथ कई अधिकारी भी मौजूद थे. आयोजन को सफल बनाने में समिति के अध्यक्ष रामप्रवेश, डॉ संजय चौधरी ,मृत्युंजय शर्मा, सुनील मोदी, महिमा सिंह, सीमा मिश्रा आदि का योगदान रहा. कार्यक्रम का संचालन कस्तूरी सिन्हा ने किया.

Advt

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button