Uncategorized

बोकारो : डीएसपी की प्रताड़ना से तंग आकर कोर्ट की शरण में पहुंची पत्नी, पति पर लगाया दूसरी महिला से अवैध संबंध का आरोप

Bokaro : जेपीएससी पास कर डीएसपी जैसे पद पर आसीन व्यक्ति अगर अपनी पत्नी को प्रताड़ित करे, उसे जान से मारने की कोशिश करे तो बात समझ से परे  हो जाती है. इसी तरह का एक मामला मंगलवार को उस समय सामने आया जब कथारा ऑफिसर कॉलोनी निवासी 60 केवी कॉलेज बेरमो के प्राचार्य बीएन रजवार की पुत्री कृष्णा कुमारी ने मीडिया के समक्ष अपनी आपबीती सुनायी. उनकी आपबीती सुनकर मीडिया कर्मी भी स्तम्भ रह गए. पीड़िता ने अपनी दास्तान सुनाने के क्रम में कहा कि उनका पति सह बोकारो के वर्तमान ट्रैफिक डीएसपी सुनील रजवार से उनका विवाह 29 जनवरी 2016 को रांची में पूरे धूमधाम व लेन देन के साथ हुआ था, शादी के दो-तीन माह तक सब ठीक-ठाक चलता रहा, इसके बाद उनके पति द्वारा उन्हें दहेज के लिए प्रताड़ित करने का सिलसिला आरंभ हो गया.

इसे भी पढ़ेंः NEWSWING EXCLUSIVE: नौ लाख कंबलों में सखी मंडलों ने बनाया सिर्फ 1.80 लाख कंबल, एक दिन में चार लाख से अधिक कंबल बनाने का बना डाला रिकॉर्ड, जानकारी के बाद भी चुप रहा झारक्राफ्ट

इसे भी पढ़ेंः कंबल घोटालाः एजी ने झारक्राफ्ट से धागा कंपनी और फिनिशिंग करने वाली कंपनी से पेमेंट वापस लेने को कहा

परिजनों ने समझाया, मगर नहीं कम हुई प्रताड़ना

मेरे परिजनों द्वारा उन्हें समझाने का प्रयास किया गया, मगर उनकी क्रुरता बढ़ता गया. उनके मारपीट के कारण हमारा गर्भपात हो गया. कई बार जान मारने का भी प्रयास किया गया, जब हमें इसके पीछे का कारण पता चला तो मैं दंग रह गयी. शादी से पहले ही उनका अवैध संबंध रांची निवासी एक महिला के साथ था और जब इस बात की शिकायत अपने पति से की, तो उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि उसे हम नहीं छोड़ सकते. तुम्हें भले ही छोड़ना पड़े, सके बाद उनका अत्याचार और बढ़ गया साथ ही धमकी दिया जाने लगा कि तुम्हारा कोई नहीं सुनेगा, पुलिस प्रशासन हमारी ही मदद करेगा.

इसे भी पढ़ेंः रामगढ़ : गौ रक्षा व बीफ के नाम पर अलीमुद्दीन हत्याकांड के आरोपियों में 11 को आजीवन कारावास

प्रताड़न बर्दाश्त से बाहर हुई तब पहुंची कोर्ट की शरण में

जब प्रताड़ना बर्दाश्त से बाहर हो गयी तो पीड़िता न्याय के लिए अदालत की शरण में गयी और कहा कि हमें न्यायालय पर पूरा विश्वास है, मुझे वहां से न्याय अवश्य मिलेगा. साथ ही उन्होंने कहा कि डीएसपी अपने पावर से उनके मामले को प्रभावित कर सकते हैं. पीड़िता ने पुलिस के आलाधिकारियों  से अपने व परिजनों की सुरक्षा की गुहार लगायी है. पीड़िता ने कहा कि उन्हें धमकियां मिल रही है. जबकि उपरोक्त संबंध में डीएसपी रजवार ने फोन पर बताया कि उनकी पत्नी द्वारा लगाए गए सभी आरोप निराधार व गलत है. मामला कोर्ट में चल रहा है, उन्होंने बताया कि उसे हमारे साथ रहने का मन नहीं है, इसलिए इस तरह के आरोप लगा रही है. बहरहाल उपरोक्त मामले में कितनी सच्चाई है यह तो न्यायालय तय करेगा. मगर उपरोक्त घटना के बाद से पीड़िता व परिजन सदमे व दहशत में दिख रहे हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button