न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बोकारो: जैनामोड़ ग्रामीण जलापूर्ति योजना बंद, 17 माह से 10 पंचायतों में पानी को लेकर मचा है कोहराम

12

News Wing
Bokaro 08 December:
17 माह से जैनामोड़ ग्रामीण जलापूर्ति योजना बंद पड़ा है. 2016 की गर्मी में ही जलापूर्ति योजना फेल हो गई थी. और बरसात आते आते पूरी तरह बंद हो गयी. मोटर में आई तकनीकी खराबी के कारण योजना से जुड़े 10 पंचायत में रहने वाले लोग परेशान है. करीब 14 करोड़ की लागत से जल एवं स्वच्छता विभाग की ओर तैयार किये गए योजना का लाभ लोगों को नहीं मिल पा रहा है. इस योजना को जैनामोड़ सहित आसपास के 10 पंचायत में सुचारु रुप से पीने का पानी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से बनाया गया था, जो कि पूरी तरह से ठप है.

इसे भी पढ़ें- पलामू : बिचौलियों ने 381 किसानों के नाम पर निकाल लिये लाखों के ऋण

इन पंचायतों के ग्रामीण है प्रभावित

जैनामोड़ ग्रामीण जलापूर्ति योजना से चास प्रखंड के मानगो, कनारी और जरीडीह प्रखंड के तांतरी उत्तरी, तांतरी दक्षिणी, टांड मोहनपुर, जैना, खुटरी, टांड बालीडीह बांधडीह उत्तरी और बांधडीह दक्षिणी में रहने वाले करीब पचास हजार की आबादी प्रभावित है. वहीं इस योजना के करीब 4000 कनेक्शनधारी हैं. जिनके घरों में सप्लाई का पानी पहुंचता है. जो अभी 17 महीने से बंद है. जैनामोड़ के खुटरी में जलापूर्ति के लिए फिल्टर प्लांट और करीब 14 लाख लीटर के जल मीनार का निर्माण किया गया है. जिस फिल्टर प्लांट में पानी तुपकाडीह के तेनु बोकारो नहर से पाइप के माध्यम से पहुंचता है. उसी स्थान पर लगे 25 एचपी के मोटर में आयी तकनीकी खराबी के कारण पानी की आपूर्ति फिल्टर प्लांट में पूरी तरह से बंद हो गई है.

बहु पंचायत जल एवं स्वच्छता समिति है से लेकर संसद, विधायक है उदासीन

इस जलमीनार के संचालन का जिम्मा बहु पंचायत जल एवं स्वच्छता समिति को दिया गया है, लेकिन समिति इसे लेकर कभी गंभीर नहीं दिखा. न तो उसके पदाधिकारी को मतलब है और न ही उसके सदस्यों को. इसलिये योजना बेकार हो गया है. वहीं विधायक और सांसद भी चुप्पी साधे हुए हैं.

इसे भी पढ़ें- बकोरिया कांड: मृतक के परिजन को 20 लाख देकर केस मैनेज करने की कोशिश

विभाग को करना चाहिए पहल

जरीडीह प्रखंड बीस सूत्री कमिटी के अध्यक्ष संजय सिंह ने कहा कि विभाग को योजना से कोई मतलब नही है. कई बार इस बात की शिकायत अधिकारियों से भी कर चुके हैं. अभी तो ठीक है, मगर गर्मी में जैनामोड़ में पानी की काफी किल्लत होती है. अगर जल्द से जल्द इसे व्यवस्था ठीक नहीं करायी गयी तो इसे लेकर आंदोलन की तैयारी की जाएगी.

सरकार के पास भेजे हैं प्रस्ताव

पेय जल एवं  स्वच्छता  विभाग के कार्यपालक अभियंता शशिभूषण पुरन ने बताया कि यजन के संचाल की जिम्मेवारी बहु पंचायत कमिटी की है, लेकिन हमने भी योजना को लेकर विभाग को लिखा है. वहां से निर्देश मिलते ही काम किया जाएगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: