Uncategorized

बोकारो: एक माह से बंद है तेनु-गोमिया सड़क पर भारी वाहनों का परिचालन

प्रकाश मिश्र
Bokaro, 11September: एक माह से तेनु गोमिया सड़क पर भारी वाहनों का परिचालन बंद है, जिस कारण भारी वाहनों को फूसरो होकर गोमिया आना-जाना पड़ रहा है. वहीं बस और कार वाले तेनु डैम के उपर से आना-जाना कर रहे है.

एक माह पूर्व आयी जोरदार बारिश में डैम का दस फाटक खोला गया था, जिसमें डैम के नीचे नदी पर बनी पुलिया के दोनों किनारों पर बनी सड़क बह गई, और भारी वाहनों का आवागमन पुलिया होकर बंद हो गया. बारिश के खत्म हो जाने के बाद भी उस कॉजवे को बनाने की दिशा में किसी भी प्रकार की पहल पथ निर्माण विभाग की ओर से नहीं की गई है. जिससे माल वाहक वाहनों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

तेनु-गोमिया पथ से हजारीबाग जाने वालों को होती है आसानी
तेनु-गोमिया पथ होकर हजारीबाग जाने वाले भारी वाहनों को काफी आसानी होती है, वहीं ललपनिया पावर प्लांट और गोमिया के आईईएल कंपनी भी भारी वाहन कम दूरी तय कर पहंच जाती थी, लेकिन अब इन उद्योगों तक पहंुचने में भारी वाहनों को दिक्कत हो रही है, यूं कहे कि उद्योग धंधे प्रभावित भी हो रहें है. इसके साथ ही छोटे-छोटे व्यापारी को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, उनके दुकानों पर ट्रक से माल पहंुचने में दिक्कत हो रही है.
 

डैम की पथ हो चुकी है जर्जर
तेनुघाट डैम के उपर बना सड़क भी वर्षो से जर्जर पड़ा हुआ है, अब इस सड़क पर यात्री वाहनों का भार बढ़ गया है, और सड़क काफी जर्जर हो चुकी है.  जिससे लोग काफी कठिनाई में सफर कर रहें है, बस और छोटे कार सवार, 407 माल वाहक तक को डैम के उपर से जाने में छूट मिली हुई है. डैम के उपर भी हर वक्त वाहनों की भीड़ लगी रहती है.
 

पुलिया जर्जर का दोनों तरफ नहीं लगा है बोर्ड
पुलिया के जर्जर होने की जानकारी  पुलिया के दोनों ओर कहीं पर नहीं पथ निर्माण विभाग की ओर से दी गई है. जिस कारण दोनों तरफ से कई छोटे कार सवार लोग पुलिया के पास पहंुच कर लौट जाते है. वहीं कई भारी वाहन वाले भी पेटरवार होकर पुलिया के पास पहंुच जाते है. ऐसे में विभाग को डैम के पास ही बोर्ड लगाने की जरुरत है, ताकि लोग परेशानी से बच सके.

पथ निर्माण बना रहा है बड़ा पुल
पुलिया से सटे ही पथ निर्माण विभाग की ओर से पिछले दो वर्षो से बड़ा पुलिय का निर्माण किया जा रहा है, लेकिन पुलि कब बन कर तैयार होगा. इस पर विभाग के अभियंता कोई ठोस बात नहीं बोलते. बारिश में पुलिया के रड़ सहित कई समान बह गए, जिसके बाद से पुल का निर्माण भी बंद पड़ा हुआ है.

 

 

Sanjeevani

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button