न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बॉल टैपरिंग विवाद : स्मिथ ने छोड़ी राजस्थान रॉयल टीम की कप्तानी, रहाणे बने टीम के कप्तान

23

New Delhi : बॉल टैंपरिंग विवाद के चलते ऑस्ट्रेलियाई टीम की कप्तानी गंवाने के बाद स्टीव स्मिथ की परेशानी बढ़ती जा रही है. बढ़ते दबाव के कारण स्मिथ ने इंडियन प्रीमियर लीग की टीम राजस्थान रॉयल्स की कप्तानी से भी हटने का फैसला किया है. स्मिथ के राजस्थान रॉयल टीम की कप्तानी छोड़ने के बाद उनके स्थान पर अजिंक्य रहाणे को कप्तान बनाया गया है. राजस्थान रॉयल्स ने आधिकारिक बयान जारी कर इस बात की पुष्टि की है. राजस्थान रॉयल्स की प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार स्मिथ ने कहा कि मौजूदा परिदृश्य में राजस्थान रॉयल्स के लिए उनका कप्तानी छोड़ना बेहतर होगा. स्मिथ ने बीसीसीआई अधिकारियों और भारत में मौजूद अपने प्रशंसकों का उन्हें मिले समर्थन के लिए धन्यवाद भी दिया. 

इसे भी पढ़ें –  कैमरन बैनक्राफ्ट पर गेंद से छेड़छाड़ का आरोप, वायरल वीडियो आया सामने

दो साल बाद वापसी कर रही है राजस्थान की टीम

2 साल प्रतिबंध के बाद इस साल आईपीएल में वापसी कर रही राजस्थान की टीम ने इस सीजन के लिए स्मिथ को कप्तान नियुक्त किया था. आईपीएल के पिछले सीजन में स्मिथ राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स की टीम के कप्तान थे. पिछले सीजन में सुपरजायंट्स की टीम फाइनल तक तक पहुंची थी.

इसे भी पढ़ें – विकास तिवारी गैंग के 40 लोगों की हत्या करने वाले हैं श्रीवास्तव गिरोह के अपराधी

आईसीसी की नियम के तहत दोषी पाये गये स्मिथ व कैमरन बैनक्रॉफ्ट

इससे पहले रविवार को बॉल टैंपरिंग मामले में इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ और ओपनर बल्लेबाज कैमरन बैनक्रॉफ्ट को दोषी पाया था. आईसीसी ने जहां कप्तान स्मिथ को एक मैच के लिए सस्पेंड किया और साथ ही उन पर 100% मैच फीस का जुर्माना भी लगाया है. वहीं ओपनर कैमरन बैनक्रॉफ्ट पर मैच फीस का 75% का जुर्माना लगाया गया है. उन्हें 3 डीमेरिट पॉइंट भी दिया गया. आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड रिचडर्सन ने स्मिथ पर आचार संहिता के अनुच्छेद 2.2.1 के उल्लंघन के तहत आरोप लगाए हैं.

इसे भी पढ़ें –  मो शमी की कार को ट्रक ने मारी टक्कर, गेंदबाज के सिर में आयी चोट, लगे दस टांके

दोनों खिलाड़ियों पर लग सकता है आजीवन प्रतिबंध

आईसीसी की कार्रवाई दोनों क्रिकेट खिलाड़ियों के लिए परेशानी का सबब बन सकती है. क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया के प्रावधानों के तहत दोनों के क्रिकेट खेलने पर आजीवन प्रतिबंध भी लगाया जा सकता है. इस गंभीर मामले की जांच के लिए क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया के इंटेग्रिटी हेड (प्‍लेयर्स के व्‍यवहार पर नजर रखने वाला विभाग) इयान रॉय और टीम के परफॉर्मेंस मैनेजर पैट होवार्ड खुद केपटाउन पहुंचे थे. ऑस्‍ट्रेलिययाई खेल आयोग के दबाव के कारण क्रिकेट बोर्ड को स्मिथ और वार्नर को कप्‍तान और उपकप्‍तान के पद से हटाना पड़ा था. बॉल टैंपरिंग की घटना सामने आने के बाद क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी जेम्‍स सदरलैंड ने ऑस्‍ट्र‍ेलियाई प्रशंसकों से सार्वजनिक तौर पर माफी मांगी थी. इस मामले में देश के प्रधानमंत्री मैल्‍कम टर्नबुल ने भी तीखी टिप्‍पणी की थी. इस मामले को लेकर उन्‍होंने खुद क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया के अध्‍यक्ष से बात की थी. जिसके बाद स्मिथ और वार्नर के खिलाफ आजीवन प्रतिबंध की आशंका बढ़ गई है.

नेहरा ने किया स्मिथ का समर्थन, आजीवन प्रतिबंध का किया विरोध

बॉल टैंपरिंग स्‍कैंडल में भारत के पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने ऑस्‍ट्रेलियाई कप्‍तान स्‍टीव स्मिथ का बचाव किया है. नेहरा ने स्‍मिथ पर आजीवन प्रतिबंध लगाने का विरोध किया है. नेहरा का मानना है कि कप्‍तानी से हटाना ही काफी है. नेहरा ने कहा कि आजीवन प्रतिबंध लगाना स्‍टीव स्मिथ और डेविड वार्नर के लिए बेहद कठोर कार्रवाई होगी. उनका मानना है कि आजीवन प्रतिबंध सिर्फ स्‍टीव स्मिथ और डेविड वार्नर के लिए ही नहीं किसी भी खिलाड़ी के लिए बेहद सख्‍त दंड होगा. नेहरा ने कहा कि उन्‍होंने अपनी गलती स्‍वीकार की है. मेरे खयाल में कप्‍तानी से हटना और एक टेस्‍ट मैच के लिए प्रतिबंधित करना दोनों के लिए काफी है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: