न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बॉल टेंपरिंग: सीए के प्रतिबंध के खिलाफ अपील नहीं करेंगे स्मिथ और बैनक्राफ्ट, सजा को ठहराया उचित

26

Melbourne : स्टीव स्मिथ और कैमरन बैनक्रॉफ्ट गेंद से छेड़छाड़ किए जाने के प्रकरण को लेकर उन पर लगाए गए एक साल के प्रतिबंध को चुनौती नहीं देंगे. पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्मिथ ने सजा को सही ठहराते हुए कहा कि इसका मकसद एक ‘‘कड़ा संदेश’’ देना है.

इसे भी पढ़ें – तेंदुलकर ने ‘बॉल टैंपरिंग’ में फंसे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को समय देने की मांग की

ट्विटर के जरिए स्मिथ ने कहीं अपनी बात

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने प्रकरण को लेकर स्मिथ, उप कप्तान डेविड वार्नर पर एक-एक साल का और युवा गेंदबाज कैमरन बैनक्रॉफ्ट पर नौ महीने का प्रतिबंध लगाया है. दक्षिण अफ्रीका का दौरा ऑस्ट्रेलिया के लिए काफी बुरा साबित हुआ, प्रकरण के अलावा मेहमान टीम को टेस्ट श्रृंखला में 1-3 से हार का सामना करना पड़ा. प्रतिबंधों को चुनौती देने की आखिरी तारीख 11 अप्रैल है. स्मिथ ने ट्विटर पर लिखा कि मैं इससे उबरने और दोबारा देश का प्रतिनिधित्व करने के लिए कुछ भी करने को तैयार हूं. लेकिन मैं ऐसा केवल टीम की कप्तानी की पूरी जिम्मेदारी लेने के संबंध में कह रहा हूं. मैं प्रतिबंध को चुनौती नहीं दूंगा. सीए ने एक कड़ा संदेश देने के लिए प्रतिबंध लगाए हैं और मैंने उसे स्वीकार कर लिया है.

इसे भी पढ़ें –  बॉल टैंपरिंग मामला: स्मिथ, वार्नर और बैनक्राफ्ट दक्षिण अफ्रीका श्रृंखला से बाहर

ऑस्ट्रेलियाई जनता का विश्वास दोबारा हासिल करना चाहता हूं : बैनक्राफ्ट

ऐसी अटकलें हैं कि वार्नर सजा को चुनौती दे सकते हैं. स्मिथ के ट्वीट के कुछ ही घंटे बाद बैनक्रॉफ्ट ने कहा कि उन्होंने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को बता दिया है कि वह सजा घटाने या हटाने की मांग नहीं करेंगे. बैनक्राफ्ट ने ट्विटर पर लिखा कि आज मैंने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को सभी कागजात सौंप दिए और मैं खुद पर लगाए गए प्रतिबंध को स्वीकार कर लूंगा. मैं इसे पीछे छोड़ना चाहूंगा और वह हर चीज करूंगा जिससे मैं ऑस्ट्रेलियाई जनता का विश्वास दोबारा हासिल कर सकूं. मैं उन सभी लोगों का आभार व्यक्त करता हूं जिन्होंने मेरा समर्थन किया.

इसे भी पढ़ें – बॉल टेंपरिंग: शर्मिंदा हैं स्मिथ, प्रेस कॉन्फ्रेंस में फूट-फूटकर रोए, कहा- जिंदगी भर रहेगा पछतावा

दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज में हुआ था विवाद

गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही चार मैचों की टेस्ट सीरीज में विवाद तब उतपन्न हुआ जब ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज कैमरन बैनक्राफ्ट पर गेंद से छेड़छाड़ का आरोप लगा था. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के दौरान गेंद से छेड़छाड़ को लेकर पूछताछ भी हुई थी. न्यूलैंड्स में खेले जा रहे इस टेस्ट मैच के तीसरे दिन बैनक्राफ्ट को अपनी पैंट के अंदर कुछ रखते टीवी कैमरे में कैद हो गये थे. सोशल मीडिया पर भी यह वीडियो वायरल भी हो गया था. यह विडियो दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी के 43वें ओवर का था जिसमें बेनक्राफ्ट पीले रंग की कोई चीज हाथ में लिए दिखाई दिये थे. इसके बाद अंपायर नाइजल लोंग और रिचर्ड इलिंगवर्थ ने उनसे बात भी की थी. जब अंपायर ने उनसे पूछा तो बैनक्राफ्ट ने अपनी जेब से कोई दूसरा पाउच निकाला जो चश्मे रखने के पैकेट जैसा लग रहा था. अंपायर्स ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की थी और गेंद भी नहीं बदली थी. 

इसे भी पढ़ें:बॉल टैपरिंग विवाद : स्मिथ ने छोड़ी राजस्थान रॉयल टीम की कप्तानी, रहाणे बने टीम के कप्तान

बैनक्राफ्ट की हरकत के वीडियो को देख प्रशंसकों ने मचाया शोर

जब स्टेडियम में लगी स्क्रीन पर बेनक्राफ्ट की हरकत के वीडियो को दिखाया गया था तो दक्षिण अफ्रीकी प्रशंसकों ने शोर मचाना शुरू कर दिया था. इस सीरीज से बाहर चल रहे दक्षिण अफ्रीकी धुरंधर बेनक्राफ्ट की तस्वीर को डेल स्टेन ने भी ट्वीट किया था. इस वीडियो को देखने के बाद ऑस्ट्रेलियाई और दक्षिण अफ्रीकी कमेंटेटर भी सकते में रह गए थे. इस मैच के ब्रॉडकास्टर सुपरस्पोटर्स ने कहा था कि यह बेहद ही संदेहजनक है. इसमें कोई दो राय नहीं. वहीं ऑस्ट्रेलिया के पूर्व खिलाडी एलन बॉर्डर ने कहा था कि अगर आप गलत चीज करते हुए पकडे जाते हो, तो आपको पेनाल्टी देनी होगी. गौरतलब है कि इससे पहले इस सीरीज में काफी विवाद हो चुका है. दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज कैगिसो रबादा और ऑस्ट्रेलियाई कप्तान की भिडंत काफी दिनों तक सुर्खियों में रही थी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: