Uncategorized

बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देकर आश्रित बनाने के स्थान पर उन्हें आत्मनिर्भर बनाना ज्यादा बेहतर : महेश पोद्दार

Ranchi : झारखण्ड से राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार ने कहा कि देश के युवा बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता देकर आश्रित बनाने के स्थान पर उन्हें आत्मनिर्भर बनाना ज्यादा श्रेयस्कर है. प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार इस दिशा में काम कर रही है. पोद्दार ने शुक्रवार को राज्यसभा में एक गैर सरकारी सदस्य विधेयक पर चर्चा के क्रम में इन बातों को रखा. सपा सांसद विसम्भर प्रसाद निषाद द्वारा प्रस्तुत संविधान संशोधन से सम्बंधित इस विधेयक में 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के बेरोजगार नागरिकों के लिए बेरोजगारी भत्ते का प्रावधान करने का प्रस्ताव किया गया था. पोद्दार ने इस विधेयक का विरोध करते हुए अपने विचार रखे.

इसे भी पढ़ें- रामगढ़ में कलंकित हुई ममता : दुधमुंही बच्चे का मां ने पहले गला रेता फिर उसे लेकर कुएं में लगा दी छलांग

इसे भी पढ़ें- लोहरदगा : बहन से शादी के लिए बनाता था आरोपी पर दबाव, इसलिए कर दी हत्या

किसानों की आय दोगुनी करने का है लक्ष्य, कृषि क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे

Sanjeevani

देश की आबादी का एक बड़ा हिस्सा कृषि के माध्यम से रोजगार पाता है. नरेंद्र मोदी की सरकार ने किसानों की आय दुगुनी करने का स्पष्ट लक्ष्य निर्धारित किया है. सरकार ने जब किसानों की आय दुगुनी करने का लक्ष्य रखा है तो कृषि क्षेत्र में रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे. रोजगार के अवसरों में यह बढ़ोत्तरी केवल परम्परागत कृषि कार्य में ही नहीं बल्कि मूल्य संवर्द्धन, प्रसंस्करण और विपणन के क्षेत्र में भी होगी.

इसे भी पढ़ें- डाल्टनगंज: मामूली विवाद में चाचा ने भतीजी और उसकी मां पर किया कैंची से हमला

विभिन्न योजनाओं से होगा रोजगार सृजन

उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने हर हाथ को हुनर-हर पेट को अनाज, हर घर में बिजली-हर घर तक पानी, हर घर तक सड़क और हर परिवार तक बैंक खाता के माध्यम से सामाजिक सुरक्षा का लक्ष्य भी निर्धारित किया है. ये तमाम योजनायें प्रचूर मात्रा में रोजगार सृजन करेंगी, इसमें संदेह की कोई गुंजाइश नहीं है.

इसे भी पढ़ें- रांची के डेढ़ लाख भवनों में केवल 10 हजार में लगा रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्‍टम

इसे भी पढ़ें- यूजर चार्ज वसूली और गंदगी फैलाने पर जुर्माना करने में रांची नगर निगम फेल

डीबीटी के माध्यम से मनरेगा की विसंगतियां हुई दूर

श्री पोद्दार ने कहा कि मनरेगा के तहत देश में रोजाना लाखों लोगों को रोजगार दिया जा रहा है. यह सही है कि इसमें पहले कुछ विसंगतियां थीं, लेकिन डीबीटी के माध्यम से उन्हें दूर कर लिया गया है. कौशल विकास के क्षेत्र में भी काफी काम हो रहे हैं, जिससे युवाओं को आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है.

 

इसे भी पढ़ें- बिल्डिंग बॉयलॉज और सेस बढ़ने से नक्‍शा पास कराने में दिलचस्‍पी नहीं दिखा रहे लोग, रांची में भारी संख्या में हुए अवैध निर्माण

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button