न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बुढ़मू के चकमे गांव में कलश यात्रा के दौरान दो गुट भिड़े, पुलिस छावनी में तब्दील हुआ क्षेत्र

62

Ranchi/Burmu : मंगलवार को बुढ़मू थाना क्षेत्र के चकमे गांव में यज्ञ कलश यात्रा के दौरान हिंदू-मुस्लिम समुदाय में विवाद हो गया. कलश यात्रा में एक विशेष समुदाय द्वारा बाधा डालने पर हिंदू समुदाय के लोग आक्रोशित हो गये. यह खबर आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में आग की तरह फैल गई. आक्रोशित हिंदू परिषद के युवाओं ने नारेबाजी व भगवा ध्वज के साथ जय श्री राम के साथ विरोध मार्च किया. इन सारी गतिविधियों की खबर मिलते ही पुलिस प्रशासन व विधायक जीतु चरण राम पुलिस बल के साथ चकमे यज्ञ स्थल पहुंचे. दोनों गुटों में बढ़ते विवाद को देखते हुये पुलिस ने आंसू गैस को गोले दागे व फायरिंग की. पुलिस फायरिंग में हिंदू परिषद के सदस्य घायल हो गया. घटना के बाद विवाद और भी बढ़ गया. गांव को पुलिस छाबनी में तब्दील कर दी गई है. बढ़ते विवाद को देखते हुये रांची एसएसपी कुलदीप द्विवेदी, एसडीओ अंजली यादव, उपायुक्त रांची, खलारी डीएसपी समेत कई थाना प्रभारी और कई प्रखंड के बीडीओ सीओ मौके पर पहुंचे. सभी ने लोगों से आपसी सौहार्द्र बनाये रखने की अपील की.

इसे भी पढ़ें – 6 लाख रुपया है विधानसभा अध्यक्ष के बंगले का सालाना बिल, तीन साल से नहीं भरा, बढ़कर  बिल हुआ 17.22 लाख रुपया

नारेबाजी

मस्जिद के रास्ते कलश यात्रा नहीं ले जाने की हिदायत के बाद भड़के हिंदू समुदाय के लोग

पुलिस के खिलाफ युवाओं ने नारेबाजी की. बढ़ते तनाव को देखते हुये क्षेत्र को पुलिस छाबनी में तब्दील कर दिया गया है. तनाव की स्थिति में विधायक डॉ जीतु चरण राम को आईसक्रीम खाते देख ग्रामीणों ने सरकार और भाजपा के खिलाफ नारेबाजी की. ग्रामीणों ने बताया कि कलश यात्रा मस्जिद के रास्ते ले जाने पर अंजाम भुगतने की पहले ही चेतावनी दी गयी थी. पुलिस को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने इसकी जानकारी दी थी. पुलिस ने जब कलश यात्रा का रास्ता बदलने की बात कही गयी तो हिंदू संगठन के लोग आक्रोशित हो गये और विरोध में ग्रामीण क्षेत्र की सभी दुकानें बंद कर पुलिस प्रशासन व सरकार के खिलाफ आंदोलन करने और चुनाव में जवाब देने की बात कही.

इसे भी पढ़ें – शराब पीकर प्लेन पर चढ़ने से रोका तो एयरलाइंस कर्मी को अगवा कर पीटा, जान से मारने की दी धमकी, पुलिस मामला दबाने के प्रयास में लगी रही

ग्रामीणों ने सरकार पर लगाया हिंदूओं की उपेक्षा का आरोप

इस दौरान ग्रामीणों ने कहा कि इस सरकार के कार्यकाल में हिंदुत्व खतरे में आ गया है. रामगढ़ अलीमुदिन कांड में 11 हिंदू परिषद व गौ रक्षकों को सजा दी गयी. पुलिस ने थाना में साजिश के तहत अलीमुद्दीन की हत्या की और बेगुनाहों पर हत्या का आरोप लगाकर उसे फंसा दिया गया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: