न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बिना अनुमति प्रचार वाहन के इस्‍तेमाल पर बीजेपी प्रत्‍याशी आशा लकड़ा को नोटिस

39

Ranchi: नगर निकाय चुनाव में रांची नगर निगम क्षेत्र में प्रचार प्रसार के लिए चुनावी मैदान में उतरे प्रत्‍याशी धड़ल्‍ले से नियमों का उल्‍लंघन कर रहे हैं. भाजपा की मेयर पद की प्रत्‍याशी आशा लकड़ा को राज्‍य निर्वाचन आयोग ने नोटिस भेजा है. नोटिस में कहा गया है कि 4 मार्च 2018 को दोपहर 3 बजे राजभवन के पास वाहन संख्‍या JH-01Y-9619 में आपके नाम का पोस्‍टर चिपकाया हुआ पाया गया. नोटिस में कहा गया है कि वाहन संख्‍या JH-01Y-9619 का परमिट जारी नहीं किया गया है. यह मामला आदर्श आचार संहिला का उल्‍लंघन का बनता है. आयोग ने आशा लकड़ा से तीन दिनों के अंदर स्‍पष्‍टीकरण मांगा है.

इसे भी देखें- सीएम रघुवर दास  को सोशल साइट पर मिल रहे ऐसे कॉमेंट,  “बेरोजगार हूं साहब, मुझे नौकरी से फर्क पड़ता है, कांग्रेस या बीजेपी से नहीं”

संतोषजनक स्‍पष्‍टीकरण नहीं मिलने पर होगी कार्रवाई : चुनाव आयोग 

चुनाव आयोग ने ये भी कहा है कि संतोषप्रद स्‍पष्‍टीकरण नहीं मिलने की स्थिति में आदर्श आचार संहिता का उल्‍लंघन मानते हुए आईपीसी, झारखंड नगरपालिका अधिनियम 2011, लोक प्रतिनिधित्‍व अधिनियम 1951 की धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज कार्रवाई की जायेगी. इस मामले पर वाहन संख्‍या JH-01Y-9619 की जांच और कार्रवाई के लिए निर्वाची पदाधिकारी, उप महापौर सह जिला आपूर्ति पदाधिकारी को भी पत्र लिखा गया है.

इसे भी देखें- युसूफ पूर्ति ग्रामीणों को बहकाकर करवा रहा है पत्थलगड़ी, आदिवासी महासभा को नहीं है मतलब: विजय कुजूर

आचार संहिता को लेकर क्यों संजीदा नहीं रहते प्रत्याशी ?

चुनाव में आचार संहिता का उल्लंघन रोकना आयोग और प्रशासन दोनों के लिए एक बड़ी चुनौती होती है. वहीं, राजनीतिक फायदे के लिए प्रत्याशी अमूमन आचार संहिता का उल्लंघन करने से परहेज नहीं करते, या फिर इस मामले में संजीदा नहीं होते. इस मामले में चुनाव आयोग के सख्त रुख से बीजेपी की मेयर पद की प्रत्याशी आशा लकड़ा की मुसीबत बढ़ती नजर आ रही है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: