न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बसपा विधायक को भाजपा का तोहफा, योगी सरकार ने दी Y कैटेगरी सुरक्षा, रास चुनाव में मदद का मिला इनाम !

19

Lucknow: राज्यसभा चुनाव में बीजेपी को नौंवी सीट पर जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले बीएसपी एमएलए को उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने तोहफा दिया है. राज्य सरकार ने उन्हें Y (वाई) कैटेगरी की सुरक्षा दी है. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में राज्यसभा चुनाव के दौरान ऐसे समीकरण बने कि बीएसपी विधायक का वोट अहम हो गया. बीएसपी उम्मीदवार भीमराव अंबेडकर की हार के लिए जिम्मेदार कई तत्वों में अनिल सिंह के वोट का अहम रोल रहा. अब बीजेपी ने अनिल सिंह को रिटर्न गिफ्ट देते हुए वाई कैटेगरी की सुरक्षा दी है. हालांकि अनिल सिंह ने 24 मार्च को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी और अपने लिए सुरक्षा की मांग की थी. इसके बाद गृह विभाग की ओर से आदेश जारी किया गया और विधायक को वाई कैटेगरी की सुरक्षा दी गई.

इसे भी पढ़ें:डाटा लीक कांड: बैकफुट पर कांग्रेस, गूगल प्ले स्टोर से डिलीट किया अपना ऐप और मेंबरशिप वेबसाइट

बता दें कि 25 मार्च को अनिल सिंह के परिवार पर हमला भी हुआ था. मीडिया में आयी खबरों के मुताबिक उन्नाव के असोहा इलाके में अनिल सिंह के भाई दिलीप पर बंदूक की नोंक के बल पर हमला किया गया. खबरों के मुताबिक कार में सवार होकर कुछ लोग आए थे, इन्होंने दिलीप और उनके परिवार वालों को पीटा फिर फारर हो गये. हमला उस वक्त किया गया था जब दिलीप अपने परिवार के सदस्यों के साथ लखनऊ की ओर जा रहे थे.

इसे भी पढ़ें:डाटा लीक कांड: बैकफुट पर कांग्रेस, गूगल प्ले स्टोर से डिलीट किया अपना ऐप और मेंबरशिप वेबसाइट

क्षत्रिय धर्म का किया पालन: अनिल सिंह

राज्यसभा चुनाव के बाद मायावती द्वारा पार्टी से सस्पेंड किये जाने के बाद अनिल सिंह ने कहा कि उन्होंने बीजेपी को वोट देकर क्षत्रिय धर्म का पालन किया है. अनिल सिंह ने कहा कि उन्होंने वही किया जो उनके क्षेत्र की जनता चाहती थी. इससे पहले बीजेपी उम्मीदवार को वोट देने के बाद अनिल सिंह ने कहा था कि उन्होंने अपनी अंतरात्मा की आवाज सुनी. बता दें कि उत्तर प्रदेश में राज्यसभा की 10 सीटों के लिए चुनाव हुए थे. संख्याबल के मुताबिक इसमें से बीजेपी के 8 उम्मीदवार आसानी से जीत गये. जबकि सपा की ओर से जया बच्चन जीती थीं. 10वें सीट के लिए बहुजन समाज पार्टी ने अपने उम्मीदवार भीमराव अंबेडकर को खड़ा किया था. जबकि इसी सीट के लिए बीजेपी ने अनिल अग्रवाल को खड़ा किया. इस चुनाव में अनिल अग्रवाल द्वितीय वरीयता के वोटों के आधार पर विजयी घोषित किये गये. चुनाव नतीजों के बाद मायावती ने बीजेपी पर पैसे के बल पर चुनाव जीतने का आरोप लगाया था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: