न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बड़े काम की है ये कंपोस्‍टर मशीन, रांची नगर निगम ने दिखाई दिलचस्‍पी

30

NEWSWING

Ranchi, 10 December : रांची नगर निगम स्‍वच्‍छ भारत मिशन के तहत शहर को साफ और सुंदर बनाने की मुहिम के लिए जुटी हुई है. ऐसे में रांची शहर में एक ऐसी मशीन को प्रदर्शन के लिए लाया गया है, जो निगम के अधिकारियों के लिए मुहिम में सोने पे सुहागा जैसा साबित हुआ है. रांची नगर निगम के नगर आयुक्‍त, सिटी मैनेजर समेत कई अधिकारियों ने इस मशीन को बिरसा बस टर्मिनल जाकर कर न केवल देखा बल्कि ऐसी ही मशीन निगम क्षेत्र के कई जगहों पर लगाने की चर्चा भी शुरू कर दी है. रांची नगर निगम के डिप्‍टी मेयर संजीव विजयवर्गीय ने बताया कि यह मशीन बड़े काम की लगती है, इस मशीन को शहर के लॉज, होटल, मैरिज हॉल वालों ने भी देखा है, इसे सभी पसंद कर रहे हैं. ऐसी मशीन शहर के प्रमुख सब्‍जी बाजारों में इस्‍मेमाल करने से गंदगी को फैलने से रोका जा सकेगा और फायदा होगा.

क्‍या है कंपोस्‍टर मशीन

कंपोस्‍टर मशीन किसी भी तरह के कच्‍चे कूड़े को चार चरणों में प्रोसेस करती है और खाद के रूप में तब्‍दील करती है. खाद बनने की प्रक्रिया तीन दिनों में पूरी हो जाती है. यह खाद बागवानी और खेती के लिए बेहतर उर्वरक होता है.

कैसे काम करती है कंपोस्‍टर मशीन

कंपोस्‍टर मशीन बायोलॉजिकल प्रोसेस पर काम करती है. चार प्रोसेस में कूड़े को यह कंपोस्‍ट खाद बनाती है. पहले प्रासेस में यह कूड़े का छोटे-छोटे टूकड़े करती है. दूसरे चरण में मिक्सिंग की जाती है. कूड़े के मिक्सिंग के बाद तीसरे चरण में गर्म किया जाता है. और चौथे चरण में कूड़े के नमी को भाप बनाकर खत्‍म किया जाता है. और फिर तीन दिनों बाद कंपोस्‍ट खाद बन कर बाहर निकलता है.

कितनी है कीमत

कंपोस्‍टर मशीन क्षमता के अनुसार कई साइजों में उपलब्‍ध है. उसी के अनुसार इसकी कीमत तय की गई है. 50 केजी क्षमता वाली मशीन की कीमत साढ़े चार लाख रुपये और 100 केजी क्षमता वाली मशीन 6 लाख 75 हजार रूपये की है. साथ ही बड़े साइज की मशीनें भी हैं, जिनकी क्षमता और अधिक है.

झारखंड में मिल रहा अच्‍छा रिस्‍पांस

अपार्थ इंजिनियरिंग प्रा लिमिटेड के सुरेंद्र कुशवाहा ने इस कंपोस्‍टर मशीन की जानकारी देते हुए बताया कि देश के कई हिस्‍सों में इस तरह की मशीन का कारगर तरीके से इस्तेमाल हो रहा है. रांची समेत झारखंड के दूसरे शहरों में अच्‍छा रिस्‍पांस मिल रहा है. यहां के कई होटलों से यह मशीन लेने के लिए ऑर्डर मिला है. जहां यह मशीन लगता है कंपनी की ओर से पांच साल का मेंटनेंस दिया जाता है. रांची नगर निगम के अधिकारियों ने भी इसे देखा और एप्रोच किया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: