Uncategorized

बकोरिया कांड : सीआइडी ने दाखिल किया जवाब, अब 30 को होगी सुनवाई

विज्ञापन

Ranchi : आठ जून 2015 की रात पलामू के सतबरवा थाना क्षेत्र के बकोरिया में हुए कथित पुलिस मुठभेड़ के मामले में सीआइडी ने मंगलवार को अपना जवाब हाईकोर्ट में दाखिल कर दिया. जिसके बाद कोर्ट ने सुनवाई की तारीख 30 जनवरी निर्धारित की है. इस दौरान याचिकाकर्ता के अधिवक्ता आरएस मजूमदार से कोर्ट ने कहा कि वह सीआइडी के जवाब पर अपना प्रतिपक्ष 30 जनवरी को रख सकते हैं. उल्लेखनीय है कि कोर्ट ने 24 नवंबर 2017 को सीआइडी को आदेश दिया था कि वह जांच पर उठे सवालों का जवाब दे. कोर्ट ने सीआइडी को कुछ बिंदुओं पर जांच कर रिपोर्ट देने के लिए भी कहा था. कथित पुलिस मुठभेड़ में मारे गए पारा टीचर उदय यादव के परिजन ने हाई कोर्ट में सीबीआई जांच का आदेश देने के लिए याचिका दाखिल किया है.

जांच में तेजी लाने पर 14 दिसंबर को कर दिया था एमवी राव का तबादला

उल्लेखनीय है  कि 24 नवंबर 2017 को हाई कोर्ट ने जो आदेश दिए थे, उसके मुताबिक जांच में तेजी लाने को लेकर सरकार ने सीआइडी के तत्कालीन एडीजी एमवी राव का तबादला कर दिया था. उनका तबादला 14 दिसंबर को किया गया था. तबादले के 15 दिन बाद एमवी राव ने सरकार को एक पत्र लिखा है. पत्र में उन्होंने कहा है कि डीजीपी डीके पांडेय ने उन्हें बकोरिया कांड की जांच धीमी करने के लिए कहा. जब उन्होंने डीजीपी के इस गैर कानूनी आदेश को मानने से इंकार कर दिया, तब उनका तबादला कर दिया गया. एमवी राव के पत्र के आलोक में गृह सचिव एसकेजी रहाटे ने डीजीपी से प्रतिक्रिया मांगी है. 

advt

इसे भी पढ़ें : बकोरिया कांड : एडीजी एमवी राव ने सरकार को लिखा पत्र, डीजीपी डीके पांडेय ने फर्जी मुठभेड़ की जांच धीमी करने के लिए डाला था दबाव

इसे भी पढ़ें : क्या अफसरों ने मुख्यमंत्री रघुवर दास को बकोरिया कांड के दोषियों की कतार में खड़ा कर दिया !

इसे भी पढ़ें : बकोरिया कांड का सच-01ः सीआईडी ने न तथ्यों की जांच की, न मृतकों के परिजन व घटना के समय पदस्थापित पुलिस अफसरों का बयान दर्ज किया

इसे भी पढ़ें : बकोरिया कांड का सच-02ः-चौकीदार ने तौलिया में लगाया खून, डीएसपी कार्यालय में हुई हथियार की मरम्मती !

adv

बकोरिया कांड का सच-03- चालक एजाज की पहचान पॉकेट में मिले ड्राइविंग लाइसेंस से हुई थी, लाइसेंस की बरामदगी दिखाई ईंट-भट्ठे से

इसे भी पढ़ेंः बकोरिया कांड का सच-04-मारे गये 12 लोगों में दो नाबालिग और आठ के नक्सली होने का रिकॉर्ड नहीं

इसे भी पढ़ेंः बकोरिया कांड- हाई कोर्ट के आदेश पर हेमंत टोप्पो व दारोगा हरीश पाठक का बयान दर्ज

इसे भी पढ़ेंः बकोरिया कांड-सीआईडी को दिए बयान में ग्रामीणों ने कहा, कोई मुठभेड़ नहीं हुआ, जेजेएमपी ने सभी को मारा

इसे भी पढ़ेंः बकोरिया कांड का सच-05- स्कॉर्पियो के शीशा पर गोली किधर से लगी यह पता न चले, इसलिए शीशा तोड़ दिया

इसे भी पढ़ेः बकोरिया कांड का सच-06- जांच हुए बिना डीजीपी ने बांटे लाखों रुपये नकद इनाम, जवानों को दिल्ली ले जाकर गृह मंत्री से मिलवाया

इसे भी पढ़ेंः बकोरिया कांड का सच-07ः ढ़ाई साल में भी सीआइडी नहीं कर सकी चार मृतकों की पहचान

इसे भी पढ़ेंः बकोरिया कांड का सच-08: जेजेएमपी ने मारा था नक्सली अनुराग व 11 निर्दोष लोगों को, पुलिस का एक आदमी भी था साथ ! (देखें वीडियो)

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button