न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

फिल्म अभिनेता जीतेन्द्र पर यौन शोषण मामले में 47 साल बाद मामला दर्ज, हाइकोर्ट ने पुलिस जांच पर लगायी रोक

16

Shimla : फिल्म अभिनेता जीतेन्द्र पर यौन उत्पीड़न के पुराने मामले में दर्ज एफआइआर पर हाइकोर्ट ने आगे पुलिस जांच पर रोक लगा दी है. जीतेंद्र ने 47 साल बाद एफआइआर दर्ज करने को अपने वकील के माध्यम से चुनौती दी थी. गौरतलब है कि यौन शोषण मामले में आरोपित फिल्म अभिनेता जीतेंद्र के वकील ने शिमला पुलिस की ओर से दायर एफआइआर को प्रदेश हाइकोर्ट में चुनौती दी थी. एफआइआर की कॉपी मिलने के बाद हाइकोर्ट में याचिका दायर की गयी. जीतेंद्र के वकील जिनेश ने कोर्ट में कहा कि 47 साल बाद पुलिस ने प्रारंभिक जांच किए बिना सुबूत के कैसे मामला दर्ज किया? उन्होंने आरोपित से प्रारंभिक पूछताछ नहीं किये जाने पर भी सवाल उठाया. एफआइआर दर्ज करने के बाद आरोपित को इसकी कॉपी मुहैया नहीं करवायी गयी, पुलिस को इस मामले में भी जीतेन्द्र के वकील ने कटघरे में खड़ा किया है. जीतेन्द्र के वकील जिनेश ने शिमला पुलिस व प्रदेश सरकार के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने की मांग की है. जीतेन्द्र के वकील ने कहा कि यह मामला 47 साल पुराना है. हम कोर्ट में पक्ष रखेंगे. शिमला जिला पुलिस ने बिना प्रारंभिक जांच के इतने पुराने मामले में एफआइआर दर्ज कर दी. ऐसी कई दलीलें हैं जिनके आधार पर कोर्ट में याचिका दायर की गयी है.

इसे भी पढ़ें- यौन उत्पीड़न के आरोपों में घिरे ऑस्कर अकेडमी प्रमुख जॉन बेली

इसे भी पढ़ें- चुनाव आयोग ने राज्य सरकार से फिर कहा, एडीजी अनुराग गुप्ता और मुख्य मंत्री के प्रेस सलाहकार अजय कुमार पर दर्ज करें प्राथमिकी

इसे भी पढ़ें- भ्रष्टाचार पर करारा प्रहार के नाम पर सिर्फ छोटे कर्मियों और अधिकारियों पर चला सरकारी डंडा, एसीबी की कार्रवाई पर झारखंड सरकार थपथपा रही अपनी पीठ

इसे भी पढ़ें- टंडवा में नही रुक रही कोयला ट्रांसपोर्टरों से अवैध वसूली, आक्रमण के लिए विजय नामक व्यक्ति कर रहा वसूली

जीतेन्द्र पर रिश्ते में बहन ने यौन शोषण का आरोप लगायी है

जीतेन्द्र पर यौन शोषण का आरोप उनके रिश्ते में बहन ने लगायी है. जीतेन्द्र के वकील जिनेश ने बताया कि पीड़िता ने अभी तक बयान दर्ज नहीं कराया है. पुलिस ने पीडि़ता को सीआरपीसी की धारा 164 के तहत बयान करवाने के लिए कहा है. हालांकि पीडि़ता ने नहीं बताया है कि वह बयान दर्ज करवाने के लिए कब शिमला आएगी. जब तक पीड़िता बयान दर्ज नहीं करवाएगी, पुलिस आरोपित से पूछताछ नहीं कर सकती है. पीडि़ता का बयान दर्ज होने के बाद ही पुलिस जीतेंद्र से पूछताछ करने के लिए मुंबई जाएगी

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: