Uncategorized

प्रशांत किशोर का मुलायम से मिलना हैरानी की बात : शीला दीक्षित

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की मुख्यमंत्री उम्मीदवार शीला दीक्षित ने यूं तो महागठबंधन में शामिल होने की संभावना से इनकार नहीं किया, मगर कहा कि पार्टी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव से मुलाकात पर वह हैरान हैं।

किशोर और मुलायम की मुलाकात एक नवंबर को हुई थी। इस बाबत पूछे जाने पर शीला ने आईएएनएस से कहा कि उन्हें इससे थोड़ी हैरानी हुई हैं। उन्होंने कहा, “मैं नहीं जानती कि किस वजह से किशोर मुलायम से मिलने गए।”

दिल्ली की 15 साल तक मुख्यमंत्री रहीं शीला ने कहा कि वह यह कहने की स्थिति में नहीं हैं कि किशोर वहां कांग्रेस के दूत के रूप में गए थे।

ram janam hospital
Catalyst IAS

यह पूछे जाने पर कि क्या पार्टी किशोर के काम करने के ढंग से संतुष्ट हैं, शीला ने कहा कि किशोर सलाहकार हैं, रणनीतिकार हैं। हम उनके काम से खुश हैं या नहीं, यह सिर्फ सचिव बता पाएंगे..मुझे नहीं मालूम।

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

शीला ने कहा, “महागठंधन की बात कही गई है, लेकिन मुझे नहीं लगता कि अभी किसी ठोस नतीजे पर पहुंचा गया है या इस बारे में कोई निर्णय लिया गया है।”

किशोर-मुलायम मुलाकात के दौरान सपा प्रमुख मुलायम के खास विश्वासपात्र अमर सिंह की वहां मौजूदगी से इन कयासों को बल मिला है कि कांग्रेस अगले वर्ष उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा का मुकाबला करने के लिए बिहार की तर्ज पर महागठबंधन बनाने पर विचार कर रही है।

बिहार में कांग्रेस, जनता दल युनाइटेड और राष्ट्रीय जनता दल भाजपा और उसके सहयोगी दलों को शिकस्त देने के लिए महागठबंधन किया था, जिसका नतीजा शानदार रहा। इस महागठबंधन में सपा भी शामिल थी, वह अंतिम क्षण में यह कहकर अलग हो गई थी कि कांग्रेस को बहुत ज्यादा सीटें दे दी गईं।

क्या उत्तर प्रदेश में भी महागठबंधन होगा? इसके जवाब में शीला ने कहा, “ऐसा नहीं है कि ऐसा कोई सवाल ही नहीं है। इस समय ऐसा नहीं है। इस बारे में अभी चर्चा हो रही है और मैं समझती हूं कि यह खबरों में ज्यादा हो रहा है। देखते हैं क्या होता है।”

समाजवादी पार्टी के गठन के 25 वर्ष पूरा होने पर गत शनिवार को पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी. देवगौड़ा सहित जनता परिवार के कई वरिष्ठ नेता लखनऊ में जुटे थे।

शीला ने कहा कि अभी तक सपा की तरफ से किसी ने भी कांग्रेस से गठबंधन की संभावना पर बातचीत के लिए संपर्क नहीं किया है।
(सिद्धार्थ दत्त)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button