न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पॉलिटेक्निक छात्रों ने एसबीटीई कार्यालय में किया ताला बंदी, मंत्री और सचिव पर झूठ बोलने का लगाया आरोप 

16

Ranchi : एसबीटीई और सरकार के खिलाफ राज्य के पोलिटेक्निक कॉलेजों के स्टूडेंटस विभागीय  नियमों से परेशान हैं. इसके खिलाफ लगातार मांग कर रहे हैं, साथ ही धरना दे रहे हैं. बुधवार को एसबीटीई द्वारा पहले दिये गये धरने के बाद लिये गये समय का समयावधि समाप्त हो गयी. किसी तरह की कोई मांग पूरी नहीं होने से परेशान  छात्रों ने बुधवार को फिर एसबीटीई कार्यालय में तालाबंदी और काला बिल्ला लगाकर विरोध प्रदर्शन किया. एनएसयूआई के इंद्रजीत सिंह के नेतृत्व में छात्रों ने जमकर नारेबाजी की और मांग पूरी नहीं होने तक तालाबंदी किये रहने की बात कही. साथ ही शिक्षा मंत्री और  एसबीटीई के सचिव पर झूठ बोलने के आरोप लगाये हैं. विदित हो कि इससे पहले भी दो बार इन्हीं मांगों को लेकर घेराबंदी किया जा चुका है.

इसे भी पढ़ें –  झारखंड सरकारी कर्मचारियों को सांतवा वेतनमान के भत्ते पर कैबिनेट की मुहर, राज्य निर्वाचन आयोग की हरी झंडी के बाद मिलेगा लाभ

पुलिसवालों ने दी लाठीचार्ज की धमकी
एसबीटीई कार्यालय में पुलिसबल तैनात है, जिन्होंने धरना पर बैठे छात्रों को धमकाते हुए कहा कि अगर धरना से नहीं हटे तो लाठी चार्ज कर दिया जायेगा. इस दौरान एनएसयूआइ्र के इंद्रजीत सिंह ने साफतौर पर पुलिसवालों से कहा कि जबतक छात्रों की मांगे नहीं मानी जायेंगी, छात्र धरने से नहीं हटेंगे. धरना के दौरान सभी छात्र एसबीटीई के सचिव और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे थे.

 

इसे भी पढ़ें –  यात्रीगण कृपया ध्यान दें : हवाई यात्रा के दौरान आपके साथ कुछ भी हो सकता है और आप चाह कर भी कुछ नहीं कर सकते…

मंत्री और एसबीटीई के बीच फंसा है मामला
छात्रों का कहना है कि सोमवार को शिक्षा मंत्री से मुलाकात हुई थी, जिसमें  उन्होंने कहा था कि आपलोगों का काम हो गया है, पर सचिव कहते हैं कि फाइल मंत्रालय में ही लंबित है. मंगलवार की रात एसबीटीई के सचिव ने कहा था कि आप आईये नोटिफिकेशन हो गया है. लेकिन ऐसा कुछ हुआ नहीं, छात्रों ने आरोप लगाया कि हमें झूठ बोलकर फंसाया जा रहा है. काम होगा या नहीं सीधा-सीधा कोई बोलता नहीं. अब जबतक बात नहीं मानी जायेगी, हम धरने पर ही रहेंगे. 

इसे भी पढ़ें –बीजेपी पतितपावन : दूसरे दलों के भ्रष्ट यहां आते ही बन जाते हैं महान

परीक्षा तिथि नहीं निकालने की कर रहे हैं मांग
छात्र पिछले एक महीने से अपने परीक्षा फॉर्म भरने देने की मांग कर रहे हैं. पांचवी सेमेस्टर के सभी स्टूडेंटस को परीक्षा फॉर्म नहीं भरने दिया जा रहा है. जिसके  खिलाफ वे लगातार विरोध कर रहे हैं. स्टूडेंटस की मांग है कि जब तक परीक्षा फॉर्म सभी भर नहीं लेते हैं, तब तक परीक्षा की तिथि न निकाली जाये.

 

इसे भी पढ़ें –  बच्ची की अम्मा कौन ? डीएनए टेस्ट से सच आएगा बाहर, साबित होने पर महिला सरपंच का छिन सकता है पद

छात्रों की मांगे
सभी छात्रों को पांचवी सेमेस्टर की परीक्षा फॉर्म भरने और परीक्षा देने की अनुमति दी जाये
सत्र 201518 के सेकेंड सेमेस्टर की विशेष  परीक्षा ली जाये
 एफसीओ के सिस्टम को तुरंत हटा दिया जाये, अगर लागू करना हो तो अगले सत्र  से लागू किया जाये 
वीएमआईटी कॉलेज में सत्र के बीच में फीस में बढ़ोतरी के खिलाफ कार्रवाई की जाये और अविलंब रोक लगे
परीक्षा केंद्र को होम सेंटर  किया जाये
परीक्षा के बीच समयावधि दिया जाये
सभी कॉलेजों में शिक्षक नियुक्ति जल्द से जल्द किया जाये

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: