न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पेड न्यूज बुराई बन गई है : नायडू

326

New Delhi: उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने गुरुवार को कहा कि ‘पेड न्यूज’ एक बुराई बन गयी है. उन्होंने अखबारों से अपनी ताकत का उपयोग समाज के भले के लिए बुद्धिमत्तापूर्वक करने की अपील भी की. नायडू ने प्रसिद्ध मराठी अखबार ‘लोकमत’ का दिल्ली संस्करण शुरू होने के मौके पर आयोजित किये एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि पेड न्यूज एक बुनाई बन गई है. यह समाज की कमजोरी बन गई है. उन्होंने कहा कि अखबारों के पास समाज को प्रभावित करने की ताकत है जिसका इस्तेमाल लोगों के व्यापक हित के लिए उसे बुद्धमतापूर्वक करना चाहिए.

इसे भी पढ़ें- गुजरात और हिमाचल में भाजपा की जीत के आसार : एक्जिट पोल

मातृभाषा के उपयोग की जोरदार पैरवी

मातृभाषा के उपयोग की जोरदार पैरवी करते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि आंध्रप्रदेश के एक विद्यालय में पढ़ने के बावजूद वह वर्तमान हैसियत तक पहुंचे, जहां पढ़ाई का माध्यम तेलुगू था. उन्होंने कहा कि माता-पिता बच्चों पर अंग्रेजी में बोलने का दबाव डालते हैं जो उनकी कमजोरी दर्शाता है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वह किसी भाषा के खिलाफ नहीं हैं. नायडू ने कहा कि अखबार को समाज का प्रतिबिंब होना चाहिए. उन्होंने मीडिया से अभिव्यक्ति की आजादी का इस्तेमाल जिम्मेदारी से करने को कहा.

इसे भी पढ़ें- अपने ही वार्ड से पर्षद चुनाव लड़ने की पाबंदी खत्म, डिप्टी मेयर और उपाध्यक्ष के लिए भी होंगे चुनाव, राजनीतिक पार्टियां निकाय चुनाव में दिखायेंगी दम

खुद को अफवाह फैलाने वालों के हाथों का हथियार नहीं बनने दें मीडिया

उन्होंने मीडिया को आगाह किया कि वे खुद को अफवाह फैलाने वालों के हाथों का हथियार नहीं बनने दें. उन्होंने कहा कि पुष्टि के साथ सूचना एक विशाल विस्फोटक है. पुष्टि के बगैर यह गॉसिप रहता है और यह खतरनाक अफवाह का कारण बन सकता है. इस मौके पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि मीडिया किसी भी लोकतंत्र में अहम भूमिका निभाता है. कार्यक्रम को कई अन्य गणमान्य लोगों ने भी संबोधित किया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: