न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पीएम को लिखे पत्र में बताया ‘टीटीपीएस में मची है करोड़ों की लूट’, निकाली एमडी की शवयात्रा

13

NEWSWING

Ranchi, 06 December : टीटीपीएस ललपनिया में संकल्‍प बचाओ संघर्ष मोर्चा ने टीवीएनएल प्रभारी रामावतार साहू की सांकेतिक शवयात्रा निकाली. यह सांकेतिक शवयात्रा टीवीएनएल में व्‍याप्‍त भ्रष्‍टाचार के खिलाफ निकाली गयी. संकल्‍प बचाओ संघर्ष मोर्चा के निखिल सोरेन ने बताया कि टीपीसीएस कारखाना स्‍थापित करने के समय तत्‍कालीन उर्जा विभाग द्वारा विस्‍थापितों के लिए संकल्‍प पत्र बनाया गया था. जिसमें कहा गया था कि विस्‍थापित लोगों को ट्रेनिंग देकर नौकरी पर रखा जाये. निखिल सोरेन ने टीवीएनएल प्रभारी रामावतार साहू पर आरोप लगाते हुए बताया कि उन्‍होंने लोगों को नौकरी में रखने से पहले संकल्‍प पत्र की अनदेखी की और इसके लिए अवैध रूप से पैसे भी लिये. रामावतार साहू ने अवैध कमाई के इन्‍हीं पैसों से कई जगहों पर कॉलेज खोले हैं और रियल स्‍टेट कंपनियों में भी पैसे लगाये हैं. निखिल सोरेन ने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की है. टीवीएनएल प्रभारी रामवतार साहू के शवयात्रा के दौरान उनके खिलाफ खूब नारेबाजी की गई. इस दौरान उनके प्रतिकात्‍मक शव को पूरे शहर में घुमाया गया.

पीएम के नाम खुले पत्र में टीवीएनएल के भ्रष्‍टाचार की चर्चा

निखिल सोरेन ने टीवीएनएल में व्‍याप्‍त भ्रष्‍टाचार के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एक खुला पत्र जारी किया है. इस पत्र में कहा गया है कि जब से रामवतार साहू का टीवीएनएल में आगमन हुआ है, तब से भ्रष्‍टाचार बढ़ गया है. स्‍थानीय आदिवासियों का हक मारा जा रहा है. फैक्‍ट्री में लूट मची है. हर काम के लिए कमीशन बंधा हुआ है. कंपनी द्वारा लाखों का टेंडर निकाला जाता है. 10 प्रतिशत ठेकेदार को देकर रामवतार साहू 90 प्रतिशत राशि अपनी जेब में रख लेते हैं. इसके लिए पत्र में सुभाष प्रसाद को एमडी का खास आदमी बताया गया है. भ्रष्‍टाचार को बढ़ावा देने के लिए मुख्‍य अभियंता को लातेहार भेज दिया गया है और जूनियर इंजीनियर को कठपुतली की तरह इस्‍तेमाल किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें : देश में सबसे ज्यादा प्रदूषण फैलाने वाले पावर प्लांट में से एक है टीटीपीएस, केंद्रीय प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने उत्पादन बंद करने का दिया निर्देश

रामावतार साहू ने बनाई अकूत संपत्ति

पत्र में कहा गया है कि रामावतार साहू ने 2000 करोड़ की राम-शोभा कंपनी खड़ी कर ली है. साथ ही कई हजार करोड़ रुपये की जमीन दुमका में भी खरीद लिये हैं. रांची के इंदिरा पैलेस में इस कंपनी का आफिस भी है. रांची से कई जगहों में पैसे लगाये गये हैं.

हक मांगने वालों पर होती है कार्रवाई

पत्र में कहा गया है इलाके में कई तरह की बुनियादी समस्‍यायें व्‍याप्‍त हैं. यहां जब कभी बिजली पानी और दूसरी मूलभूत सुविधाओं के लिए आंदोलन किया गया, तब लोगों के खिलाफ बलपूर्वक कार्रवाई की गई. स्‍थानीय नेताओं को जेल भेज दिया गया. यहां फूट डालो और पैसा कमाओ का खेल चल रहा है.

यह भी पढ़ें : लेट-लतीफी के कारण TTPS को देना पड़ा 22 करोड़, तीन करोड़ बकाया, ब्याज भी देना पड़ेगा

 रामावतार साहू के पैसों पर पलते हैं नेता

पत्र में लिखा गया है कि संथाल मजदूर नेता संथाली मजदूरों को और मुसलमान नेता मुस्लिम मजदूरों को डराते हैं. ये नेता रामावतार साहू के पैसों पर पलते हैं. यहां हर टेंडर और काम खास चार लोगों के बीच ही बंट जाता है. पत्र में बताया गया है कि यही नेता रामावतार साहू के बेटे की शाही शादी का इंतजाम और खर्च की जिम्‍मेवारी उठा रहे हैं.

यह भी पढ़ें : पांच बार इंटरव्यू रद्द होने के बाद 25 नवंबर को भी टीटीपीएस एमडी के साक्षात्कार में मौजूद नहीं थीं इंटरव्यू बोर्ड की अध्यक्ष राजबाला वर्मा !

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: