न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

पाकुड़ पुलिस ने राइस पुलर मैगनेट गिरोह का किया पर्दाफाश, शिकंजे में आए एक अपराधी ने खुद को बताया प. बंगाल के पूर्व मंत्री का पीए

210

Pakur : पाकुड़ पुलिस ने राइस पुलर मैगनेट के नाम पर करोड़ों रुपये ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है. पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्र प्रसाद बर्णवाल ने मीडियाकर्मियों को जानकारी देते हुए बताया कि नगर थाना क्षेत्र के राजापाड़ा मोहल्ले के सेलूकस त्रिवेदी ने पांच लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कराया था, जिसकी बुनियाद पर एसडीपीओ श्रवण कुमार के नेतृत्व में गठित टीम ने सघन छापेमारी अभियान चलाकर पार्थो सार्थी पांडेय, मृणाल कांति पांडेय, ममता पांडेय, जीवन चंद्र झा उर्फ सपन मुखर्जी उर्फ अमित गुहा एवं मोहम्मद कलाम नामक शातिरों को गिरफ्तार किया. छापेमारी के दौरान पुलिस ने विभिन्न बैंकों के चेकबुक, मोबाईल सेट, बैंक खाता एवं एक एटीएम बरामद किया. एसपी ने बताया कि इस मामले का मास्टरमाइंड जीवन चंद्र झा उर्फ सपन मुखर्जी अपने आपको नासा का वैज्ञानिक बताता था, जिसने झांसा देकर आधा दर्जन लोगों से करोड़ों रुपये ऐंठ लिए है. एसपी ने कहा कि पार्थो सार्थी पांडेय, उसकी पत्नी ममता पांडेय, मृणाल कांति पांडेय एवं पश्चिम बंगाल के मुराराई थाना के घुसकिरा गांव निवासी मोहम्मद कलाम आपस में मिलाकर जालसाजी का रैकेट चलाते थे. ये शातिराने अंदाज में वादी से राइस पुलर मैगनेट देने के बहाने रुपये की ठगी करते थे. सेलूकस को उक्त सिक्का देने के नाम पर राशि ली गई. जब सेलूकस ने रुपये वापस करने या सिक्का देने का दबाव दिया तो सार्थी ने सेलूकस को इलाहाबाद बैंक का दस दस लाख का पांच चेक, बंधन बैंक का 10 लाख का एक चेक एवं मृणाल पांडेय ने बैंक ऑफ बड़ौदा का 15-15 लाख का दो चेक दिया. एसपी ने कहा कि गिरफ्त में आए अभियुक्तों ने पुलिस के समक्ष अपना गुनाही कबूल किया है.

eidbanner

इसे भी देखें- खबरें कोर्ट की : रिनपास नियुक्ति घोटाला : डॉ एके नाग की जमानत याचिका खारिज

क्या है राइस पुलर मैगनेट ?

ठग गिरोह के अनुसार राइस पुलर मैगनेट यानी चावल को अपनी ओर खींचने वाली शक्ति ठगी का नायाब हथियार है. इस तरह की ऊर्जा प्राचीन धातु में मौजूद होने का दावा करते हैं. बदले में लाखों करोड़ों रुपये मिलने की बात कहकर ठगी का शिकार बनाते हैं. बताते हैं कि डेवलप्ड कंट्री ऐसी एनर्जी पर रिसर्च कर रही है. इसके लिए अंतरार्ष्ट्रीय कंपनी मुहमांगी रकम चुकाते हैं. खास तौर पर अष्टधातु से बने सिक्के, मूर्तियों की बात बताते हैं.

इसे भी देखें- बिना अनुमति प्रचार वाहन के इस्‍तेमाल पर बीजेपी प्रत्‍याशी आशा लकड़ा को नोटिस

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

mi banner add

मोहम्मद कलाम खुद को बता रहा प. बंगाल के पूर्व मंत्री का पीए

एसपी के मुताबिक पश्चिम बंगाल और झारखंड के सीमावर्ती क्षेत्र के महेशपुर से पुलिस ने मोहम्मद कलाम नामक शख्स को गिरफ्तार किया है. कलाम खुद को पश्चिम बंगाल के पूर्व सिंचाई मंत्री किरणमय नंदा का पीए बता रहा है. लिहाजा पुलिस उसे मंत्री के पीए होने का कनेक्शन भी खंगाल रही है. एसपी ने बताया टीम में एसडीपीओ श्रवण कुमार, पुलिस अवर निरीक्षक राजेन्द्र कुमार मिश्र, ओपी प्रभारी राजकिशोर मिश्र, सहायक अवर निरीक्षक मोहन दास सहित सशत्र बल जवान थे

कहाँ-कहाँ के लोगों को बनाया शिकार ?

एसपी ने बताया कि पार्थो सार्थी पांडेय और गिरोह के सदस्यों ने जिले के गंधाईपुर, चांचकी, महेशपुर आदि गांव के लोगों के साथ धोखधड़ी की है. उक्त गांव के लोगों ने नगर थाना में शिकायत की है. पुलिस जांच कर रही है कि आखिर इन लोगों ने अब तक और कितनों को शिकार बनाया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: