Uncategorized

पाकुड़ : अवैध कोयला उत्खनन के स्थानों को चिन्हित कर कार्रवाई करने के उपायुक्त ने दिये निर्देश

Pakur :  उपायुक्त पाकुड़ ने एक टीम गठित कर लिट्टीपाड़ा के सिमलोंग क्षेत्र में अवैध कोयला उत्खनन के स्थानों को चिन्हित कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है. डीएफओ रजनीश कुमार एवं एसडीपीओ श्रवण कुमार के नेतृत्व में टीम ने उक्त क्षेत्र में सोमवार को दिनभर जांच कर तकरीबन आधे दर्जन अवैध उत्खनन को जांच किया है. उल्लेखनीय है कि बड़ा घघरी के पास सिमलोंग पहाड़ पर पिछले सप्ताह अवैध उत्खनन करने के दौरान टाल धंसने से 40 साल के कॉम्बे पहाड़िया की मौत हो गई थी. यह मामला पुलिस की उदासीनता की वजह से लगभग रफा-दफा हो गया क्योंकि चौबीस घंटे के बाद परिजनों एवं ग्रामीणों ने शव का अंतिम संस्कार कर दिया. जबकि पास में ही सिमलोंग ओपी है, इसके बावजूद पुलिस तबतक वहां नही पहुंच सकी जबतक की मीडिया वालों ने पुलिस से घटना के बाबत पूछताछ नहीं की.

इसे भी पढ़ें – झारखंड के शीर्ष दो अफसरों पर संगीन आरोप, विपक्ष कर रहा कार्रवाई की मांग, सरकार की हो रही फजीहत, रघुवर चुप

आश्चर्य इस बात को लेकर है कि क्षेत्र के कई स्थानों पर अवैध कोयला उत्खनन किया जा रहा है और कोयले की ढुलाई भी विभिन्न माध्यमों के जरिए सड़क मार्ग से किया जा रहा है. इस स्थिती में पुलिस को अवैध उत्खनन की जानकारी ना होना आश्चर्य का विषय है. पिछले दिनों मुफ्फसिल थाना पुलिस ने सदर प्रखंड के पाली गांव के पास खेत से चार ट्रैक्टर कोयला उठाकर थाने लायी और मामला दर्ज नहीं किया गया. इस बारे में पूछने पर मुफ्फसिल थाना का कोई भी पदाधिकारी कुछ कहने को तैयार नहीं है. वहीं इस बारे में दबी जुबान से कहा जा रहा है कि कोयले के कागजात दिखाने के बाद उसे छोड़ दिया गया. हालांकि चारों ट्रैक्टर को पुलिस पंद्रह किलोमीटर तक लेकर आयी, लेकिन की भी दावेदार सामने नहीं आया. लेकिन ठीक एक दिन बाद ही ट्रकों पर किसने अपनी दावेदारी पेश कर दी, से लेकर कई तरह से सवाल उठ रहे हैं.   

इसे भी पढ़ें – “रूठे-रूठे उरांव” सरकार की सिरदर्दी “मनाऊं कैसे…”

सवाल उठता है आखिर जंगल में इतने लंबे समय से अवैध उत्खनन चल रहा है तो फिर पुलिस करती क्या है? साथ ही विभाग के पदाधिकारी भी कान में तेल डालकर सोये रहते हैं. हालांकि उपायुक्त ने टीम बनाकर अवैध उत्खनन स्थलों को चिन्हित तो करवाया है, लेकिन सवाल है कि किया हर जगह उपायुक्त खुद जाकर अवैध उत्खनन को बंद करावायेंगे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button