Uncategorized

पलामू : ममता शर्मसार : 10 दिन की बच्ची को ट्रेन में छोड़कर परिजन फरार 

Daltonganj : माता को संसार में ममता का रूप कहा जाता है. कहा जाता है कि पुत कपूत भले हो जाए, माता कभी कुमाता नहीं होती है. मगर इस कलयुग में सबकुछ संभव है. ऐसा ही मामला अप 53351 चोपन चुनार बरवाडीह (सीसीबी) ट्रेन में गुरुवार को देखने मिली, जहां एक कलयुगी माता-पिता 10 दिन के नवजात बच्ची को ट्रेन में लावारिस अवस्था में छोड़कर फरार हो गए. समय रहते रेलकर्मी ने उस बच्ची को ममता की छांव दी, नहीं तो एक नन्ही सी जान असमय ही काल के गाल में समा गयी होती. इस तरह रेलकर्मी के मानवता भरे काम से उस बच्ची को फिर से नया जीवन मिला गया. 

Daltonganj : माता को संसार में ममता का रूप कहा जाता है. कहा जाता है कि पुत कपूत भले हो जाए, माता कभी कुमाता नहीं होती है. मगर इस कलयुग में सबकुछ संभव है. ऐसा ही मामला अप 53351 चोपन चुनार बरवाडीह (सीसीबी) ट्रेन में गुरुवार को देखने मिली, जहां एक कलयुगी माता-पिता 10 दिन के नवजात बच्ची को ट्रेन में लावारिस अवस्था में छोड़कर फरार हो गए. समय रहते रेलकर्मी ने उस बच्ची को ममता की छांव दी, नहीं तो एक नन्ही सी जान असमय ही काल के गाल में समा गयी होती. इस तरह रेलकर्मी के मानवता भरे काम से उस बच्ची को फिर से नया जीवन मिला गया. 

अप 53351 चोपन चुनार बरवाडीह (सीसीबी) ट्रेन गढ़वा रोड रेलवे स्टेशन पहुंचने वाली थी. इसी ट्रेन में कजरी रेलवे स्टेशन के पोर्टर पंकज किशोर भी सफर रहे थे. अचानक उन्होंने नोटिस किया कि एक नवजात (बच्ची) ट्रेन की बोगी में सीट पर पड़ी हुई है. आस-पास के यात्रियों से संपर्क करने के बाद जब किसी ने उक्त बच्ची को अपना नहीं बताया तो पोर्टर ने इसकी जानकारी डालटनगंज टीआई एके सिन्हा को दी. टीआई के निर्देश पर पोर्टर ने नवजात को उठाया और उसकी चिकित्सीय जांच करायी. लड़की फिलहाल स्वस्थ्य है. उसे चिकित्सीय जांच के बाद बाल संरक्षण केंद्र डालटनगंज को सौंप दिया गया है.

इसे भी पढ़ें : पलामू : हादसाें का गुरुवार, चार अलग-अलग दुर्घटना में पांच मरे, चित्कार से गमगीन हुआ माहौल   

Sanjeevani

नवजात बच्ची एक कपड़े और शॉल में लपेट कर रखी हुई थी

टीआई अरविंद सिन्हा ने बताया कि सीसीबी ट्रेन में कोई अपनी बच्ची को छोड़कर भाग गया, ऐसा प्रतीत होता है. लड़की के पास कुछ कपड़ा और एक शॉल बरामद किया गया है. मामले की जानकारी गढ़वा रोड जीआरपी को दे दी गयी है. लड़की को बाल संरक्षण केंद्र डालटनगंज को सौंप दिया गया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button