न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू : पुलिस के लिए सिरदर्द बना शातिर अपराधी बंधु शुक्ला गिरफ्तार, हथियार और गोलियां बरामद 

70

Daltonganj : छोटी-मोटी आपराधिक घटनाओं को अंजाम देकर सुर्खियों में आने के बाद कुख्यात आपराधिक गिरोह विकास दुबे के साथ मिलकर पलामू और गढ़वा जिले में बड़ी-बड़ी घटनाओं को अंजाम दे रहा शातिर अपराधी बंधु शुक्ला उर्फ अजीत शुक्ला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. फरवरी में एक के बाद एक लगातार तीन घटनाओं को अंजाम देकर बंधु शुक्ला पुलिस के लिए सिरदर्द बन गया था. उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस रांची से लेकर छत्तीसगढ़ तक छापामारी कर रही थी.

इसे भी पढ़ें:  पलामू : चुनावी दौरे पर डालटनगंज पहुंचे सीएम, कहा- पंचायत से लेकर संसद तक भगवा झंडा लहराना है

रंगदारी लेने के लिए पहुंचा था बंधु शुक्ला  

पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि बंधु शुक्ला एक बार फिर आपराधिक घटनाओं अंजाम देने के लिए पलामू में प्रवेश किया है. गुप्त सूचना पर पुलिस कार्रवाई कर ही रही थी कि अचानक पुख्ता जानकारी मिली कि डालटनगंज-पांकी मुख्य पथ पर लेस्लीगंज थाना क्षेत्र के महावीर मोड़ पर बंधु शुक्ला मोटरसाइकिल से आ रहा है. तत्काल पुलिस द्वारा घेराबंदी की गयी और उसे रोकने का प्रयास किया गया, लेकिन पुलिस को देखते ही बंधु भागने लगा, लेकिन ब्रेकर में फंसकर उसकी मोटरसाइकिल पलट गयी. इसके बाद पुलिस ने उसे दबोच लिया. उसकी तलाशी लेने पर उसके पास से 7.65 एमएम का एक पिस्टल, सात जिंदा गोलियां, 9 एमएम की तीन गोलियां, 11 मोबाइल और एक मोटरसाइकिल बरामद की गयी.

इसे भी पढ़ें:  गढ़वा : वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस को मिली सफलता, हथियार के साथ तीन अपराधी धराये

फरवरी माह में एक के बाद एक तीन गोलीबारी की घटनाओं को दिया था अंजाम  

पुलिस अधीक्षक इन्द्रजीत महथा ने बताया कि फरवरी माह में चैनपुर के शाहपुर और लेस्लीगंज के बसौरा गांव स्थित इंजीनियरिंग कॉलेज में रंगदारी के लिए गोलीबारी करने के बाद बंधु शहर से फरार हो गया था. इन जगहों से रंगदारी नहीं मिलने के कारण वह आक्रोशित था और पुनः गोलीबारी करने के मूड में आ गया था. इसी उद्देश्य से वह पलामू पहुंचा था, लेकिन वह कुछ कर पाता, उससे पहले ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

हथियार और गोलियां बरामद   

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बंधु को गिरफ्तार करने के बाद उसकी निशानदेही पर छापामारी की गयी. इस दौरान उसके कमलकेड़िया घर से बैग में रखा दो देसी पिस्टल, दो जिंदा गोली, 16 मोबाइल, लगभग 50 सिम कार्ड, 12 चार्जर और आठ पन्ने की सूची बरामद की गयी. पन्ने में जिले के व्यवसायियों, ठेकेदारों, पदाधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के नाम, पता और मोबाइल नंबर दर्ज है. 

इसे भी पढ़ें:  पलामू: अंतरराज्यीय वाहन चोर गैंग का उद्भेदन-तीन शातिर चोर पांच मोटरसाइकिल समेत गिरफ्तार

दो टीमें कर रही थी कार्रवाई 

गिरफ्तारी के लिए दो टीमें बनायी गयी थी, जिसमें एक का नेतृत्व डीएसपी वन सुरजीत कुमार, सदर थाना प्रभारी ममता कुमारी, शहर थाना प्रभारी तरुण कुमार, डीएसपी प्रशिक्षु विमलेश त्रिपाठी थे, जबकि दूसरी टीम में डीएसपी टू प्रेमनाथ, प्रशिक्षु डीएसपी चन्द्रशेखर आजाद, पांकी पुलिस निरीक्षक जेपी सिंह, लेस्लीगंज थाना प्रभारी राणा जंगबहादुर सिंह, पांकी थाना प्रभारी ललित कुमार और सदर थाना के एएसआई सुधीर कुमार सहित अन्य शामिल थे.

बंधु पर 20 आपराधिक मामले दर्ज

बंधु शुक्ला पर पलामू के अलावा रांची जिला को मिलाकर 20 मामला दर्ज है. पूर्व में भी रंगदारी मांगने के आरोप में वह जेल की हवा खा चुका है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: