Uncategorized

पलामू : छत्तरपुर में नक्सलियों की हिंसक वारदात, सड़क निर्माण में लगे दो जेसीबी और एक पोकलेन फूंका

विज्ञापन

Daltonganj : लंबे समय बाद एक बार फिर नक्सलियों की धमक सुनायी दी है. पुलिस की कार्रवाई से कूंद पड़ चुके नक्सलियों की धार मंगलवार को दिनदहाड़े तेज नजर आयी. पलामू जिले के छत्तरपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत घोर नक्सल प्रभावित बरडीहा-करमाचराई मुख्य पथ के निर्माण में लगे दो जेसीबी और एक पोकलेन को नक्सलियों ने दिन के उजाले में ही फूंक दिया.

माओवादियों ने दिया घटना को अंजाम

छत्तरपुर में एनएच 98 से करमाचराई तक करीब 21 किलोमीटर लंबी समय निर्माण में मंगलवार को जेसीबी और पोकलेन लगाए गए थे. शाम करीब चार बजे अचानक जंगली इलाकों से माओवादियों का दस्ता सड़क पर आया और निर्माण स्थल को घेर लिया. जेसीबी और पोकलेन के चालक तथा निर्माण कार्य की देखरेख कर रहे मुंशी पारसनाथ शुक्ला और मिश्रा को अपने कब्जे में ले लिया. चारों की पिटायी की और मुंशी को अपने कब्जे में कर लिया. बाद में जेसीबी और पोकलेन से डीजल निकालकर एक-एक कर तीनों वाहनों में आग लगा दी.

इसे भी पढ़ें- पांच हजार में हरियाणा में बेची गयी झारखंड की लड़की मुक्त कराई गयी, कई बार हुआ रेप

आंख बांधकर मुंशी को ले गये जंगल में, एक किलोमीटर दूर ले जाकर छोड़ा

आगजनी के बाद नक्सलियों ने मजदूरों को डांटा और वहां से भगा दिया. बाद में दोनों मुंशी को आंख बांधकर अपने साथ जंगल में ले गये. करीब डेढ़ घंटे बाद दोनों को छोड़ा. किसी तरह जान बचने पर मुख्य सड़क पर पहुंच कर दोनों ने राहत की सांस ली. मुंशी ने बताया कि उन्हें आंख पर पट्टी बांधकर करीब एक किलोमीटर दूर तक ले गये और घने जंगल में काम दोबारा नहीं करने की हिदायत देकर छोड़ दिया. ग्रामीणों के अनुसार नक्सलियों की संख्या में 20 के आस-पास थी. सभी अत्याधुनिक हथियारों से लैश थे. पहनावे और वेशभूषा से माओवादी लगते थे. 

इसे भी पढ़ें- चारा घोटाले में पशुपालन पदाधिकारी का बयान- ऊपर से था दबाव कि नौकरी करनी है तो दस्तखत करना होगा

पीडब्लूडी से बन रही सड़क

एनएच 98 से करमाचराई बीस फुट चौड़ाई वाली करीब 21 किलोमीटर लंबी सड़क बनायी जा रही है. इसकी लागत 34 करोड़ है. संवेदक कृष्णा सिंह ने बताया कि एक माह पहले सड़क का निर्माण शुरू किया गया था. यह ग्रामीण पथ है और कालीकरण का काम होना था. पहली बार बन रही सड़क को तैयार करने के लिए जेसीबी और पोकलेन लगाया गया था. आगजनी से करोड़ों का नुकसान हुआ है. उन्होंने सड़क निर्माण के सिलसिले में किसी तरह की लेवी मांगे जाने से इंकार किया है. उन्होंने कहा कि घटना के पीछे किसका हाथ है, कहा नहीं जा सकता.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button