Uncategorized

पद्मावती विवाद: दीपिका और भंसाली के सिर पर 10 करोड़ इनाम रखने वाले बीजेपी नेता अम्मू ने दिया इस्तीफा

News Wing

Chandigarh, 29 November: संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर विवादित बयान देने वाले हरियाणा बीजेपी के मीडिया प्रभारी सूरजपाल अम्मू ने बुधवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने दीपिका और भंसाली के सिर पर 10 करोड़ के इनाम का ऐलान किया था. अम्मू ने अपना इस्तीफा बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला को चिट्ठी लिखकर सौंपा है.

यह भी पढ़ें: नाहरगढ़ किले की दीवार से लटका मिला शव, पत्थर पर लिखा है पद्मावती विवाद से जुड़ा संदेश

सूरजपाल अम्मू ने अपने इस्तीफे में लिखा है

“मुख्यमंत्री मनोहर लाल जी द्वारा किये गये व्यवहार से मन व्यथित है. संगठन में जो सम्मान व पद आपने मुझे दिया और संगठन ने जो भी कार्य मुझे दिया, वो मैंने दिल से किया. अब मुझे यह महसूस हो रहा है कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल जी को समर्पित व निष्ठावान कार्यकर्ताओं की आवश्यकता नहीं रही है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल जी के इर्दगिर्द कुछ अवांछित लोगों का एक समूह है जो उन्हें भाजपा के निष्ठावान कार्यकर्ताओं से पिछले तीन सालों से दूर कर रहा है. भगवान उन्हें सदबुद्धि प्रदान करें. मुझे उम्मीद है आप मेरे इस मैसेज को ही मेरे द्वारा दिया जा रहा इस्तीफ़ा समझेंगे और मंजूर करेंगे. मैं भाजपा में साधारण कार्यकर्ता के रूप मे काम करता रहूंगा.”

यह भी पढ़ें: पद्मावती विवाद: साक्षी महाराज ने कहा, पैसे के लिए नंगे भी हो सकते हैं फिल्म वाले

सीएम खट्टर से खफा हैं अम्मू

इस्तीफे के बाद अम्मू ने बयान दिया है कि मैंने भारी मन से अपने पद से इस्तीफा दिया है. मैं हरियाणा के मुख्यमंत्री के बर्ताव से दुखी हूं. मैंने पहले कभी किसी सीएम को इतना अहंकारी नहीं देखा, जो अपनी पार्टी कार्यकर्ताओं को सम्मान नहीं देता.” 

यह भी पढ़ें: फिल्म पद्मावती विवाद पर उमा भारती ने कहा, बहन को पत्नी और पत्नी को बहन बोलना ठीक नहीं

इस्तीफे का दिया था संकेत

बीते दिनों अम्मू ने कहा था कि अगर जरूरत पड़ी तो वे अपने पद से इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं. 

यह भी पढ़ें: पद्मावती विवाद पर बोले कमल हासन: मैं चाहता हूं दीपिका का सिर सुरक्षित रहे

क्या था पूरा विवाद

‘पद्मावती’ फिल्म को लेकर हो रहे विवाद में हाल ही में सूरजपाल अम्मू भी कूद पड़े थे. वो कुछ ऐसा बोल गए, जिसकी उम्मीद किसी को नहीं थी. उन्होंने ऐलान किया था कि जो कोई भी निर्देशक संजय लीला भंसाली का सिर काटकर लाएगा,उसको वो 10 करोड़ रुपए का इनाम देंगे. इसके बाद बीजेपी ने उनके बयान से किनारा करते हुए उन्हें ‘कारण बताओ नोटिस’ जारी किया था. इसके बाद अम्मू. मनोहरलाल खट्टर समेत बीजेपी के तमाम वरिष्ठ नेताओं की नाराजगी के शिकार हो गए थे.

यह भी पढ़ें: पद्मावती के सम्मान के खिलाफ दिखाया तो MP में रिलीज नहीं होने देंगे फिल्म : चौहान

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button