न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पंडरा कृषि बाजार में ट्रांसपोर्ट नगर बनाने की राह आसान नहीं

17

Manish Jha

Ranchi, 11 December : पंडरा कृषि बाजार समिति परिसर में ट्रांसपोर्ट नगर के निर्माण की नगर विकास विभाग की मंशा बिना किसी बाधा के पूरी हो जाएगी, इसे लेकर संशय है. ट्रांसपोर्ट नगर के लिए प्रस्तावित जमीन को भी सरकार ने 12 एकड़ से बढ़ाकर 35 एकड़ कर दिया है. 300 दुकानों और गोदामों को तोड़ने का खाका तैयार किया है. ट्रांसपोर्ट नगर के ड्रीम प्रोजेक्ट की फाइल को अभी विभागीय परिक्रमा करनी है जिसमें पेंच फंसना लाजमी है.

शहर के बीच में ट्रांसपोर्ट नगर बनने का प्रस्ताव अव्यावहारिक

इधर, व्यवसायियों ने भी विरोध का स्वर उठाना शुरू कर दिया है. खुद नगर विकास मंत्री सीपी सिंह भी इसके पक्षधर नहीं दिखाई दे रहे हैं. हालांकि उन्होंने अभी तक इस मसले पर खुलकर टिप्पणी करने से परहेज किया है. पंडरा में ट्रांसपोर्ट नगर से जुड़े मसले पर फिलहाल नगर विकास विभाग अकेले ही काम कर रहा है. ट्रांसपोर्ट नगर के प्रस्ताव को भी 12 एकड़ से बढ़ाकर 35 एकड़ कर दिया गया है. 300 दुकानों और गोदामों को तोड़ने का खाका तैयार किया है. जिसका तीव्र विरोध व्यवसायियों ने शुरू कर दिया है. व्यवसायियों का तर्क है कि शहर के बीच में ट्रांसपोर्ट नगर बनने का प्रस्ताव अव्यावहारिक है. ट्रांसपोर्ट नगर के प्रस्ताव पर अभी तक कृषि विभाग की सहमति नहीं ली गई है. इस निर्माण योजना से जुड़ी फाइल वित्त विभाग के पास जाएगी. परिवहन विभाग की भी सलाह ली जाएगी.

इसे भी पढ़ें : केस दर्ज करने से बचती है रांची के कई थानों की पुलिस, पैरवी के बाद दर्ज होता है मामला

पूर्व में नामकुम में ट्रांसपोर्ट नगर बनाने की थी योजना

ट्रांसपोर्ट नगर को पूर्व में रिंग रोड के समीप नामकुम के सरवल में बनाने की योजना थी. ट्रांसपोर्ट नगर के लिए शहर के बाहर जिस जमीन को चिन्हित किया गया था वह व्यावहारिक तौर पर ठीक भी थी. यह योजना अभी तक ठंडे बस्ते में नहीं गयी है. जानकार बताते हैं कि देर सवेर ट्रांसपोर्ट नगर फिर वहीं का रुख करेगा.

ट्रांसपोर्ट नगर बनने से पंद्रह हजार युवक बेरोजगार हो जायेंगें : मो शब्बीर (व्यवसायी)

इस मंडी से पंद्रह हजार युवकों का घर चलता है. अगर ट्रांसपोर्ट नगर बनायी जायेगी तो काफी लोग सड़क पर आ जायेंगें. हमलोग बीस साल से यहां अपना दुकान चला रहे हैं. ट्रांसपोर्ट नगर बनाने से पहले सरकार को दुकानदारों के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करनी चाहिये. 

इसे भी पढ़ें : संथाल के लिए जहर है कि प्यार है तेरा चुम्मा, बीजेपी ने पूछा जेएमएम से

पंडरा बाजार में परिवहन नगर बनाने का कोई औचित्य नही : प्रवीण लोहिया

परिवहन नगर बनाने के लिये जो जगह चिन्हित किया गया है वो काफी छोटा है. ट्रांसपोर्ट नगर बनने से पिस्का मोड़ से पंडरा तक जाम की समस्या और बढ़ती जायेगी, साथ ही यातायात की समस्या और भयावह हो जायेगी. सरकार ट्रांसपोर्ट नगर को रिंग रोड में बसाने पर विचार करे. पंडरा बाजार में रोजाना करोड़ों का व्यापार होता है. ऐसे व्यापार को अधिकारियों की सलाह पर क्यों उजाड़ने का प्रयास किया जा रहा है. बसे-बसाये व्यापारियों को उजाड़ना कहीं से भी उचित नहीं है. अधिकारी मुख्यमंत्री को क्या फीडबैक दे रहे हैं, यह भी चिंतनीय है. इस नगर को बनाने के लिये कम से कम 100 एकड़ जमीन चाहिये. बिजनेस कोरिडोर की तरह बनाया जाये. जिससे असानी से 16 चक्का वाले ट्रकों की आवा-जाही आराम से हो सके. स्वास्थ्य संबंधित दुकानों से लेकर खाद्य-सामग्री तक उपल्बध रहे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: