न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

न्यूक्लियस मॉल के 400 से ज्यादा कर्मी सड़क पर करते हैं पार्किंग, महंगी पार्किंग बताते हैं वजह

11

NEWS WING

RANCHI, 25 NOVEMBER: रांची के सर्कुलर रोड में स्थित न्यूक्लियस मॉल इन दिनों काफी चर्चा का केंद्र है. चाहे मॉल की खूबसूरती का बखान हो या उसमें मौजूद शो रूम सभी लोगों के आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं. मॉल का खास आकर्षण क्रिकेटर धोनी का शो रूम सेवेन है. जिसकी चर्चा लोगों के बीच बहुत आम है. लेकिन रांची का यह मॉल आजकल जिस चीज को लेकर सबसे ज्यादा चर्चा में हैं, वह है जाम.यहां सवाल है कि  

यह भी पढ़ें – रांचीः न्यूक्लियस मॉल की पार्किंग दिल्ली से भी महंगी, इसी वजह से सड़क पर गाड़ियां पार्क करते हैं लोग

सवालः सर्कुलर रोड पर न्युक्लियस मॉल के पास आखिर जाम क्यों रहता है?

जवाबः क्योंकि न्युक्लियस के 40 फीसदी कर्मी करते हैं सर्कुलर रोड पर पार्किंग.

जी हां सर्कुलर रोड पर लगने वाले जाम की एक बड़ी वजह न्यूक्लियस मॉल भी है. इस्ट जेल चौक के पोस्ट प्रभारी हेरेंद्र मरांडी और मॉल कर्मचारियों की माने तो सड़क पर पार्क होने वाले वाहनों में 40 प्रतिशत गाड़ियां शॉपिंग मॉल में करने वालों की हैं. वहीं मॉल के कर्मियों से जब न्यूज विंग के संवाददाता ने सवाल पूछा कि, आप सड़क पर पार्किंग क्यों करते हैं’? तो इसके जवाब में मॉल कर्मचारियों ने एक ही बात कही . उनका कहना है कि यहां पार्किंग इतनी महंगी है कि इतने पैसे  हम कहां से देंगे.

वहीं ईस्ट जेल चौक पोस्ट के प्रभारी हरेंद्र मरांडी का कहना है कि जेल मोड़ वाले रोड और इस्ट जेल मोड़ वाली सड़क पर खड़ी गाड़ियां, या तो मॉलकर्मियों की हैं या फिर शॉपिंग करना वालों की. साथ ही उन्होंने कहा कि यही वजह है कि    सड़क पर शाम होते ही यातायात व्यवस्था को लेकर काफी परेशानी होती है और यहां आये दिन जाम की स्थिती हो जाती है.

1200 कर्मचारियों में 450 से उपर मॉलकर्मी करते हैं सड़क पर पार्किंग

वहीं न्यूक्लियस मॉल के एक कर्मी ने बताया कि विभिन्न शॉप से मिलाकर लगभग 1200 कर्मी यहां कार्यरत हैं. इसमें से 40 प्रतिशत कर्मी सड़क पर ही पार्किंग करते हैं. जब उस कर्मी से पूछा गया कि आखिर इसके पीछे की वजह क्या है तो कर्मी का साफ कहना था कि   मॉल की पार्किंग बहुत महंगी है. साथ ही बताया कि मॉलकर्मी सड़क पर कहीं भी खाली देखकर गाड़ी लगा देतें हैं. मॉलकर्मी ने अपनी समस्या न्यूज विंग टीम के सामने रखते हुए कहा कि मॉल प्रबंधन को पार्किंग शुल्क फ्री करना चाहिए या डिस्कॉन्ट देना चाहिए. क्योंकि सड़क पर गाड़ी पार्क करने की वजह से ही जाम लगता है.

क्या है पार्किंग शुल्क

न्यूक्लियस मॉल की पार्किंग शुल्क प्रति घंटा 20 रुपया टू वीलर और 40 रुपया फोर वीलर है. जबकि यहां कर्मियों को गाड़ी पार्क करने के लिए 750 रुपया प्रति माह पार्किंग शुल्क देना पड़ेगा. इसी मॉल मेंम काम करने वाली एक महिला कर्मी का कहना है कि आठ घंटे की कमाई पार्किंग में ही दे देंगे, तो घर कैसे चलाएंगे. महंगी पार्किग की वजह से रोड़ पर ही मोटरसाइकिल खड़ा करना पड़ता है. ऐसे में हमेशा चोरी का भय भी बना रहता है. इसके साथ ही उस महिलाकर्मी ने अपनी समस्या को रखते हुए कहा कि मॉल प्रबंधन से जब इसपर कहा तो प्रबंधन वाले कहते हैं कि सिर्फ 20 ही लोगों की पार्किंग फ्री है. उस कर्मी ने कहा कि  सरकार को इसपर ध्यान देना चाहिए.

मॉल पार्किंग का शुल्क लोगों पर बोझ जैसा है

न्यूक्लियस मॉल खरीदारी करने पहुंचे जीशान मिर्जा और अभिजीत कुमार ने भी महंगी पार्किंग के कारण सड़क ही अपनी दो पाहिया को पार्क किया. उन्होंने कहा कि मॉल में वसूले जाने वाली पार्किंग पर सरकार को ध्यान देना चाहिए. इससे लोगों को काफी परेशानी होती है. साथ ही इन्होंने कहा कि इतनी महंगी पार्किंग बोझ जैसी लगती है.

फुड वैन की जगह अब गाड़ियों ने ले ली है

यहां बता दें कि न्यूक्लियस मॉल खुलने के बाद इस्ट जेल रोड और जेल मोड़ के किनारे फुड वैन(ठेले, चॉमिन, खोमचे) की दुकान लगनी शुरु हो गई थीं. इससे सर्कुलर रोड पर काफी जाम लग जाया करता था. जिसके बाद रांची नगर निगम की इंफोर्समेंट टीम ने इन सभी फुड वैन को हटा दिया. लेकिन इन्हीं जगहों पर अब शॉपिंग करने वाले और मॉलकर्मी की वाहन लगनी शुरु हो गई है. जिसक नतीजा यह है कि सड़क पर जाम लगना शुरु हो गया है और निगम को इस ओर जल्दी ही की ठोस कदम उठाने की जरूरत है क्योंकि शाम ढ़लते ही इस रोड पर गाड़ियां रेंगने लगती हैं.  

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: