न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

निरंजना नदी बालू लूट मामले में प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, जब्त करीब चार सौ वाहन होंगे नीलाम

143

Chatra : निरंजना नदी बालू लूट में जब्त किए गए करीब चार सौ वाहनों को नीलाम किया जायेगा. जिला प्रशासन ने इसके लिए प्रकिया शुरू कर दी है. पुलिस अधीक्षक अखिलेश बी वारियर ने इसका प्रस्ताव उपायुक्त जितेंद्र कुमार सिंह को भेजा है. पुलिस अधीक्षक की रिपोर्ट के आधार पर डीसी राज्यसात की प्रक्रिया पर मुहर लगायेंगे. ज्ञात हो कि गत आठ जनवरी को ऐतिहासिक और सांस्कृतिक धरोहर हंटरगंज के निरंजना नदी से हो रही बालू की अवैध लूट के खिलाफ जिला प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की थी. बालू उठाव में लगे 382 वाहनों को जब्त किया गया था. वहीं इस मामले में 28 लोगों को गिरफ्तार किया गया था. जब्त वाहनों में 376 ट्रक, पांच जेसीबी एवं चार पोकलेन शामिल है. इस संबंध में हंटरगंज एवं वशिष्ठ नगर थाना में अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की गई है. बताते चलें कि निरंजना नदी बौद्ध और सनातन की संवेदना से जुड़ी हुई है.

mi banner add

इसे भी पढ़ें – गोमिया और सिल्ली विधानसभा चुनाव जून में होना तय ! आजसू दोनों सीट पर अड़ा, क्या लंबोदर महतो के सपने पर फिरेगा पानी

जब्त सैकड़ों वाहनों में लगे हैं स्कूटर, बाइक और ऑटो के नंबर

Related Posts

पूर्व सीजेआई आरएम लोढा हुए साइबर ठगी के शिकार, एक लाख रुपए गंवाये

साइबर ठगों ने  पूर्व सीजेआई आरएम लोढा को निशाना बनाते हुए एक लाख रुपए ठग लिये.  खबर है कि ठगों ने जस्टिस आरएम लोढा के करीबी दोस्त के ईमेल अकाउंट से संदेश भेजकर एक लाख रुपए  की ठगी कर ली.

नदी के विभिन्न घाटों से बालू की लूट मची हुई थी. यहां एक दर्जन से अधिक अवैध घाट संचालित हो रहे थे. इतना ही नहीं बालू लूट में मिली छूट के कारण खूनी संघर्ष की संभावनाएं भी बढ़ गई थी. ऐतिहासिक और सांस्कृतिक धरोहर को बचाने के लिए स्थानीय लोगों ने अभियान छेड़ रखा था. जिसके आलोक में जिला प्रशासन ने यह कार्रवाई की थी. मजे की बात तो यह है कि आठ जनवरी की छापेमारी में जब्त किए गए डेढ़ सौ से अधिक वाहन फर्जी नंबर के हैं. इनमें किसी ट्रक में स्कूटर का, तो किसी में ऑटो तो किसी में मोटरसाइकिल एवं दूसरे छोटे वाहनों का नंबर प्लेट लगा हुआ है. जब्त कुछ वाहनों को चालक लेकर फरार भी हो गए हैं. पुलिस अधीक्षक अखिलेश बी वारियर ने बताया कि जब्त वाहनों को राज्यसात के लिए उपायुक्त को पत्र लिखा गया है. इधर उपायुक्त जितेंद्र कुमार सिंह का कहना है कि अब तक उन्हें एसपी का पत्र प्राप्त नहीं हुआ है. पत्र प्राप्त होते ही कार्रवाई को अंतिम रूप दिया जाएगा.

इसे भी पढ़ें – मौलाना ने लूटी मासूम की अस्मत, प्राथमिकी दर्ज होते ही हुआ फरार

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: