न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

निकाय चुनाव में पारा शिक्षकों ने बढ़ाई भाजपा की परेशानी, सबक सिखाने की ठानी

21

Chatra : जहां एक ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री जिलों का दौरा कर कार्यकर्ताओं व प्रत्याशियों को सरकार के विकास कार्यों का हवाला देकर लोगों से वोट मांगने का निर्देश दे रहे हैं, वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री रघुवर दास व सरकार की नीतियों व कार्यशैली का विरोध भी शुरू हो गया है. प्रदेश में पहली बार दलगत स्तर पर हो रहे नगर निकाय चुनाव को लेकर भाजपा के प्रत्याशी घर-घर जाकर लोगों से अपने पक्ष में वोट की अपील कर रहे हैं. लेकिन बीजेपी प्रत्याशियों व पार्टी की परेशानी पारा शिक्षकों ने बढ़ा दी है. पारा शिक्षकों ने नगर निकाय चुनाव में भाजपा समर्थित प्रत्याशियों को वोट नहीं देने की अपील की है. भाजपा व प्रत्याशियों के विरुद्ध विरोध का बिगुल फूंकते हुए एकीकृत पारा शिक्षक संघ के पूर्व जिला अध्यक्ष सत्यदीप कुमार उर्फ बुटन माली ने मुख्यमंत्री रघुवर दास व सरकार पर जमकर हमला बोला है. संघ के पूर्व अध्यक्ष ने सरकार व मुख्यमंत्री पर नशे में चूर रहने का गंभीर आरोप लगाते हुए पारा शिक्षकों का विरोधी कहा है.

इसे भी देखें- जानें, भारत बंद में कहां क्या हुआ, देश भर में जोरदार प्रदर्शन, कई जगहों पर हिंसा, अगलगी व उत्पात, एमपी में कर्फ्यू

संघ के पूर्व अध्यक्ष का बयान, निकाय चुनाव में सरकार को सबक सिखाएंगे पारा शिक्षक

पूर्व अध्यक्ष ने कहा है कि झारखंड के सुदूरवर्ती इलाकों में विगत 18 वर्षों से पारा शिक्षक शिक्षा का अलख जगाते हुए प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था को ऊपर उठाने में लगे हैं. लेकिन प्रदेश की सामंतवादी सरकार पारा शिक्षकों को प्रोत्साहित करने के बजाय हमारे भविष्य के साथ खिलवाड़ करने पर तुली है. पूर्व अध्यक्ष ने कहा है कि शिक्षकों की गोद में प्रलय व निर्माण खेलते हैं. पारा शिक्षक व उनके परिजन अपने बहुमूल्य मतों से किसी को रातों-रात प्रदेश की सत्ता सौंप सकते हैं तो समय आने पर उसे सत्ता से बेदखल भी कर सकते हैं. उन्होंने प्रदेश के सभी पारा शिक्षकों से अपनी क्षमता का परिचय देते हुए सामंतवादी सरकार को उखाड़ फेंकने की अपील की है. पूर्व अध्यक्ष ने पारा शिक्षकों व आम लोगों से नगर निकाय चुनाव में भाजपा प्रत्याशियों को वोट देने के बजाय किसी गरीब प्रत्याशी को अपना वोट देने की अपील की है.

इसे भी देखें- सीसीएल के बीते वित्त वर्ष का लेखा-जोखा : उत्पादन 63.4 मिलियन टन, डिस्पैच 67.5 मिलियन टन, झारखंड को मिलने वाले हैं तीन नये वाशरी

भाजपा के सांसद, विधायकों का कड़ा विरोध करने की अपील

विगत कई माह से लंबित मानदेय भुगतान व अन्य समस्याओं को लेकर आक्रोशित संघ के पूर्व अध्यक्ष ने प्रदेश के सभी पारा शिक्षकों से कहा है कि अब समय आ गया है अपने बहुमूल्य वोटों से शिक्षक विरोधी सरकार को सबक सिखाने का. उन्होंने चुनाव प्रचार को लेकर क्षेत्र में पहुंचने वाले भाजपा के मंत्री, सांसद, विधायक व वरिष्ठ नेताओं का पुरजोर विरोध करने की अपील पारा शिक्षकों से की है. कहा है कि कड़े विरोध से सरकार को यह एहसास होगा कि एक शिक्षक के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का परिणाम क्या होता है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: